(son's child.)
(son's child.)

अपने ही बेटे के बच्चे की मां (son’s child.)कहलाएगी महिला

मां :दुनिया में आपने तरह-तरह के अजूबे देख और सुने होंगे. कई बार मां और बेटी एक साथ प्रेगनेंट होकर लगभग दो पीढ़ियों को एक साथ जन्म देते हैं तो कई बार सास और बहू को एक साथ प्रेगनेंट होकर बच्चे को जन्म देने की घटनाएं सामने आती हैं. हालांकि जो घटना हम आपको बताने जा रहे हैं, वो इससे अलग है. मां ने जिस बच्चे को जन्म को देकर पाला-पोसा और बड़ा किया, अब वो उसी के बच्चे की मां (son’s child.) बनने जा रही है.

सुनने में ये बात बेहद अजीब लग रही है, लेकिन कम से कम पहली नज़र में ये बिल्कुल सच है. नैंसी हॉक नाम की महिला अपने ही बेटे के बच्चे के अपने गर्भ में पाल रही है. नवंबर में वो अपनी पोती को जन्म देगी और दादी के बजाय उसकी मां कहलाएगी. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ये कैसे हो सकता है, तो चलिए हम आपको इसकी तकनीकी तह तक ले जाते हैं.

पोती को गर्भ में पाल रही हैं दादी
पोते-पोतियों को उनकी दादी इस दुनिया में आने के बाद जमकर प्यार-दुलार देती हैं. उन्हें पालने की आधी ज़िम्मेदारी भी वो खुशी-खुशी उठाती हैं लेकिन नैंसी हॉक आम दादियों से अलग अपनी पोती को उसके जन्म से पहले ही अपनी कोख में पाल रही हैं. उन्होंने अपने बेटे के बच्चे को जन्म देने का फैसलाकिया है. अमेरिका के उताह की रहने वाली नैंसी के 32 साल के बेटे जेफ और 30 साल की बहू कैम्ब्रिया के बच्चे को नवंबर में जन्म देने जा रही हैं. डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने अपने बेटे और बहू के लिए एक सरोगेट मदर बनने का फैसला किया और जल्दी ही उनके हाथों में उनकी अपनी पोती होगी, जिसे वो खुद जन्म देंगी.

See also  बदन में दर्द की वज हर बार काम का बोझ नहीं होता, बल्कि इसकी होती हैं ये वजह...

दादी या मां !
56 साल की नैंसी का ये फैसला सुनकर परिवार के सभी लोगों को झटका लगा, लेकिन जब डॉक्टर ने इसे सुरक्षित करार दिया तो सभी तैयार हो गए. ऐसा नहीं है कि ये उनकी पहली पोती है. इससे पहले भी उनके घर में 4 बच्चे हैं, जिन्हें उनकी बहू ने ही जन्म दिया है. हालांकि दोनों बार हुए जुड़वां बच्चों के दौरान उसे काफी तकलीफों का सामना करना पड़ा था. ऐसे में जब परिवार को बढ़ाने की बात हुई, तो इस बार नैंसी ने ये ज़िम्मेदारी खुद उठाने का फैसला किया और वे काफी खुश हैं. वे पहले 5 स्वस्थ बच्चों को जन्म दे चुकी हैं और उनके अब भी ज्यादा परेशानी नहीं हो रही.