मेधावियों ने हासिल किया गोल्ड, सिल्वर, ब्रांज मेडल

केजीएमयू के 119 वें स्थापना दिवस पर मंत्रियों का हुआ जमावड़ा

मेधावियों ने हासिल किया गोल्ड, सिल्वर, ब्रांज मेडल

  • 26 एमबीबीएस, 18 बीडीएस,2 नर्सिंग के खाते में गये गोल्ड मेडल
  • कोरोना काल के दौरान इलाज व वैक्सीन लगाने में पेश की मिशाल- पाठक
लखनऊ। केजीएमयू के अटल विहारी वाजपेई साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में आयोजित 119 वें स्थापना दिवस समारोह में मंत्रियों का जमावड़ा देखने को मिला। शुक्रवार को मुख्य अतिथि के रूप में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री प्रो माणिक साहा, विशिष्ट अतिथि डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री मयंकेश्वर शरण सिंह , प्रो विनीता दास पूर्व विभागाध्यक्ष स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग केजीएमयू,विशेष अतिथि पार्थ सारथी सेन शर्मा प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा उप्र मौजूद रहे। वहीं डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने संबोधित करते हुए कहा कि कोविड की रोकथाम से लेकर वैक्सीन लगाने में यूपी ने शानदार काम किया है। कई देशों में पर्चियों पर कोविड मरीजों का इलाज मुहैया कराया गया है। यूपी में कोविड के इलाज से लेकर वैक्सीन लगाने तक के आंकड़े आनलाइन रहें हैं।  
 
डिप्टी सीएम ने कहा कि केजीएमयू में प्रतिदिन सात से आठ हजार मरीज ओपीडी में आते हैं। मरीजों को डॉक्टर अच्छी सलाह दे रहे हैं। सरकार केजीएमयू को आगे बढ़ाने में लगातार प्रयास कर रही है। डॉक्टरों की कमी दूर की जा रही है। पैरामेडिकल स्टाफ व कर्मचारियों की भर्ती की जा रही है। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल लगातार सभी शिक्षण संस्थानों की अलग से समीक्षा बैठक कर रही हैं साथ ही गुणवत्ता में सुधार के बावत काम कर रही हें। सरकार राज्यपाल के प्रयासों के साथ है। उन्होंने कहा कि यूपी व त्रिपुरा साथ मिलकर काम करें। इसके लिए दोनों संस्थानों के प्रतिनिधि ज्ञान का आदान-प्रदान करें। ताकि इलाज की तकनीक को और बेहतर बनाई जा सके।
 
उन्होंने कहा कि कोविड में यूपी में बेहतर काम किया है। केजीएमयू ने इसमें अहम भूमिका निभाई है। वहीं त्रिपुरा के मुख्यमंत्री डॉ. माणिक साहा ने कहा कि लखनऊ से उनका गहरा नाता रहा है। खासकर केजीएमयू से मेडिकल की पढ़ाई की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने कानून व्यवस्था को बेहतर किया है। उनके मॉडल को त्रिपुरा में लागू किया गया है। क्योंकि हम भी किसी भी दशा में गुंडाराज नहीं चाहते हैं। इससे काफी हद तक कानून व्यवस्था को बेहतर करने में मदद मिल रही है। इसी क्रम में कुलपति डॉ. सोनिया नित्यानंद ने संस्थान की उपलब्ध्यिों को गिनाते हुए कहा कि संस्थान लगातार तरक्की के नए आयामों को हासिल कर रहा है और नर्सिंग भर्ती परीक्षा सफलतापूर्वक कराई है। प्रो.नित्यानंद ने कहा कि जल्द ही नए डॉक्टरों की तैनाती होगी।
 
रोगियों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने की दिशा में प्रयास किया जा रहा है। कार्यक्रम में चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री मयंकेश्वर शरण सिंह, डॉ. अमिता जैन, डॉ. विनीता दास, पूर्व कुलपति डॉ. एमएलबी भट्ट, डॉ. बिपिन पुरी, डॉ. डीके गुप्ता समेत अन्य डॉक्टर मौजूद रहे। इसी क्रम में मेधावियों को मेडल देकर सम्मानित किया गया। जिसमें 26 एमबीबीएस, 18 बीडीएस, 2 नर्सिंग को गोल्ड मेडल प्रदान किया गया। साथ ही सिल्वर मेडल पाने वालो में एमबीबीएस के 20, बीडीएस के 23 मेधावियों ने हासिल किया और ब्रांज मेडल कुल 9,बुक प्राइज में 1,डीपी ट्रस्ट कै श प्राइज 8,कैश प्राइज 3, डा.जान्ह्वी दत्त पांडेय अवार्ड पहली विजेता की दौड़ में 1, स्पोर्ट छात्रों में 2 मेडल देकर सम्मानित किया गया। मेडल हासिल करते ही मेधावियों के चेहरों में खुशी मुस्कान देखने को मिली।
Tags: lucknow

About The Author

Latest News

बलौदाबाजार हिंसा-आगजनी की घटना को बसपा सुप्रीमो मायावती ने असमाजिक तत्वों का कृत्य बताया बलौदाबाजार हिंसा-आगजनी की घटना को बसपा सुप्रीमो मायावती ने असमाजिक तत्वों का कृत्य बताया
रायपुर। बलौदा बाजार मे हुई हिंसा और आगजनी की घटना को बसपा प्रमुख मायावती ने षड्यंत्रकारी असामाजिक तत्वों द्वारा की...
नवनिर्मित अटल आवास में पानी, बिजली की सुविधाओं की मांग
अल्पसंख्यक कांग्रेस ने चुनाव में समर्थन के लिए मुस्लिमों, दलितों और पिछड़ों का आभार व्यक्त किया
मेयर ने कहा विजय नगर में 10 एम एल डी पानी की होगी व्यवस्था
शाहिद कहते हैं योगा में शिरकत कर लखनऊ के बाशिंदों की तहजीब ने मेरा मन मोह लिया
एआरटीओ ने गाड़ी सीजकर डेढ़ लाख रोड टैक्स जमा कराया
आरएमएल निदेशक ने डेंटल लैब का किया उद्घाटन