केजीएमयू विशेषज्ञों ने नसों के क्लॉक तकनीकी पर की चर्चा

केजीएमयू विशेषज्ञों ने नसों के क्लॉक तकनीकी पर की चर्चा

लखनऊ। देश में तरह तरह की बीमारियों से निपटने के लिए स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने नसों के क्लॉक तकनीकी पर चर्चा की। रविवार को केजीएमयू के निश्चेतना विभाग द्वारा आईएसपीसी कॉन- 2023 के तहत पेन कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें पहली कार्यशाला एनाटॉमी विभाग में कैडवर पर किया गया।
 
जिसमें फ्लोरोस्कोपिक के माध्यम से नसो को क्लाक करने की तकनीकी पर विशेषज्ञों ने सुझाव दिए। इस विधि से कैंसर दर्द, जोड़ों का दर्द  से आराम मिलेगा साथ में दूरवीन विधि द्वारा कमर का दर्द के बारे में प्रदर्शित किया गया।
 
वहीं दूसरी जगह कलाम सेन्टर में अल्ट्रासाउंड गाइडेड नसों को कैसे पहचान कर ब्लॉक किया जाने पर बताया। साथ ही दर्द में आराम मिलने के बारे में प्रदर्शित किया गया। कार्यशाला में लगभग 75 से अधिक छात्रों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया।प्रशिक्षक में आरएमएल के डा.अम अनुराग अग्रवाल, कोलकता डा. देव-ज्योति, तमिलनाडु से डा. विष्णु, एसटीओ सुजित, एसजीपीजीआई से डॉ. संदीप, डा.अजीत कुमार, केजीएमयू से सरिता सिंह, मनीष सिंह, ऋषिकेश से डॉ.अजीत कुमार मौजूद रहे।
Tags: lucknow

About The Author

Latest News

साइकिलिंग स्पर्धा के माध्यम से प्रशंसक पेरिस की प्राकृतिक सुंदरता का अनुभव कर सकेंगे: यूसीआई अध्यक्ष साइकिलिंग स्पर्धा के माध्यम से प्रशंसक पेरिस की प्राकृतिक सुंदरता का अनुभव कर सकेंगे: यूसीआई अध्यक्ष
जिनेवा। यूनियन साइक्लिस्ट इंटरनेशनल (यूसीआई) के अध्यक्ष डेविड लैपर्टिएंट ने शुक्रवार को कहा कि ओलंपिक साइकिलिंग प्रतियोगिताओं को देखना प्रशंसकों...
मार्करम ने कहा- गेंदबाजों के पास अच्छी योजना थी और उन्होंने इसे सफल बनाया
सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम की पिच स्पिनरों की मदद कर सकती है: विक्रम राठौर
टी-20 विश्व कप: वेस्टइंडीज टीम में चोटिल किंग के प्रतिस्थापन के रूप में मेयर्स को मिली मंजूरी
निगम अधिकारियों को पॉलिथीन बनाने वाली फैक्ट्री और होलसेल व्यापारियों पर शिकंजा कसना चाहिए : अजय गुप्ता
रूस को उत्तर कोरिया पर प्रतिबंधों का पालन करना चाहिएः संयुक्त राष्ट्र महासचिव
पूर्व पीएम खालिदा जिया की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती