सड़क पर पिंक ई-रिक्शा दौड़ेंगे, चलाएंगी महिलाएं

पहले चरण में 250 महिलाओं को किया जा रहा चिह्नित

लखीमपुर खीरी । शहर में जल्द पिंक ई-रिक्शा दौड़ते दिखेंगे। इन्हें महिलाएं ही चलाएंगी। पहले चरण में जिले की 250 महिलाओं को ई-रिक्शा उपलब्ध करवाकर उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाने की कवायद की जा रही है। जिला उद्योग कार्यालय इस योजना को अमली जामा पहनाने में जुटा है। 11 जुलाई को प्रदेश सरकार के सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योग अनुभाग-2 ने इस संबंध में एक पत्र जारी किया है। इस पत्र के माध्यम से यूपीकॉन को इस प्रोजेक्ट के लिए कार्यदायी संस्था नामित किया गया है।
 
मिशन शक्ति योजनान्तर्गत प्रशिक्षित महिला लाभार्थियों को ई-रिक्शा खरीदने के लिए मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना से लाभान्वित किया जाएगा। योजना के लिए चयनित महिलाओं के लिए निःशुल्क ई-रिक्शा प्रशिक्षण, निःशुल्क आरटीओ द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस, सस्ते ब्याज दरों पर ई-रिक्शा खरीदने हेतु सरल फाइनेंस प्रक्रिया की सुविधा उपलब्ध कराते हुए 25 प्रतिशत की सब्सिडी भी दी जाएगी। इसका उद्देश्य पिछड़ी, बेरोजगार व निराश्रित महिलाओं को सशक्त बनाना है। 
 
महिला लाभार्थियों को मिलेगा निशुल्क डीएल और प्रशिक्षण-
उपायुक्त उद्योग संजय सिंह ने बताया कि योजना के तहत जरूरतमंद पात्र महिला लाभार्थियों के चयन की प्रक्रिया चल रही है। इसमें जिला प्रोबेशन विभाग की भी मदद ली जा रही है। वहीं, महिला लाभार्थियों के चयन के बाद 25-25 का बैच बनाकर उनको पिंक ई रिक्शा चलाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह प्रशिक्षण मिशन शक्ति योजना के तहत दिया जाएगा। इस प्रशिक्षण में उन्हें चार दिन थ्योरी और शेष छह दिन रिक्शा संचालन का प्रैक्टिकल करवाया जाएगा। इसके साथ उन्हें निशुल्क अस्थायी व स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस उपलब्ध करवाया जाएगा।इस योजना के तहत गरीब, बेसहारा, बेरोजगार व जरूरतमंद महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा। महिलाओं की उम्र 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए। वहीं, वह हाईस्कूल उत्तीर्ण होनी चाहिए।
 
 
 
 

About The Author

Related Posts

Latest News