तीन मुहूर्त के बाद 16 दिसंबर से खरमास शुरू

तीन मुहूर्त के बाद 16 दिसंबर से खरमास शुरू

जयपुर। देवउठनी एकादशी के बाद शादियों का सीजन शुरू हो गया है । शादियों के सीजन में बारातियों व बैंड बाजों से मैरिज गार्डनों की रौनक बढ़ गई है। जगह-जगह पर वैवाहिक रस्मों का दौर जारी है । मैरिज गार्डन ,सामुदायिक केंद्रों में मेहमानों को दावत दी जा रही है। लेकिन चातुर्मास के बाद 23 नवंबर से शुरू हुए मुहूर्त 14 दिसंबर तक ही है। इसके बाद 16 दिसंबर से खरमास शुरू होगा और फिर से शादी पर रोक लग जाएगी। ज्योतिषाचार्य पंडित बनवारी लाल शर्मा ने बताया कि अगले साल मकर संक्रांति के बाद 18 जनवरी से मांगलिक कार्यक्रम शुरू होंगे। फिर 14 मार्च को खरमास लगेगा। उसके बाद 18 से 26 अप्रैल तक शादियों के मुहूर्त होंगे। मई और जून में गुरु और शुक्र ग्रह अस्त होने से एक बार फिर से शादियां नहीं हो सकेंगी, लेकिन जुलाई में फिर से विवाह के मुहूर्त मिलेंगे। लेकिन चातुर्मास के बाद मांगलिक कार्य रुक जाएंगे। इस साल विवाह के लग्न 14 दिसंबर तक रहेंगे। फिर 16 दिसंबर को सूर्य के धनु राशि में आने से खरमास शुरू हो जाएगा। इस दौरान शादियां नहीं होंगी। ऐसे में अगले साल मकर संक्रांति के बाद 18 जनवरी से फिर से विवाह आदि मांगलिक कार्य शुरू होंगे।

Tags:

About The Author

Latest News

 मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने आध्यात्मिक गुरु बाबा हरदेव सिंह की जयंती पर किया नमन  मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने आध्यात्मिक गुरु बाबा हरदेव सिंह की जयंती पर किया नमन
भोपाल । मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने शुक्रवार को संत निरंकारी मिशन के आध्यात्मिक गुरु बाबा हरदेव सिंह जी की...
मंडला में आज मिलेट फूड फेस्टिवल, 40 स्टॉलों पर उपलब्ध रहेंगे स्वादिष्ट व्यंजन
निजी स्कूलों में गरीब बच्चों के निशुल्क प्रवेश के लिए आज से ऑनलाइन आवेदन शुरू
मुख्यमंत्री आज नीमच को देंगे 752 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात
भाजपा विधायक राजेंद्र पाटनी का निधन
'जोशी सर' नहीं रहे, अंतिम संस्कार आज शाम, राजकीय सम्मान के साथ दी जाएगी विदाई
एक आईएएस, पांच आईएफएस, 396 आरएएस समेत 24 आईपीएस के ट्रांसफर