रक्तदान को महादान समझते हैं युवा  समाजसेवी वीरू विधायक 

रक्तदान को महादान समझते हैं युवा  समाजसेवी वीरू विधायक 

अयोध्याजरूरतमंद लोगों के बीच शहर के कई ऐसे समाजसेवी है जो अपना खून देकर किसी की जान बचाने में अहम भूमिका निभाते है। इनको सिर्फ मालूम यह हो जाए कि कोई भी व्यक्ति किसी गंभीर बीमारी व रक्त की कमी से उसकी जान जा सकती है उनकी मदद व ब्लड देने में पीछे नहीं हटते हैं। ये मानते हैं कि रक्तदान से बढ़कर कोई दान नहीं है। यह पुण्य काम है। इसमें लोगों को बढ़कर हिस्सा लेनी चाहिए।
 
यहां के कई ऐसे समाजसेवी है जो रक्तदान करने में आगे रहते हैं। जिनकी जान में खतरे में रहती है उन्हें रक्त देने के लिए तैयार रहते हैं। वीरू ने बताया कि मंगलवार को अशोक रावत के साले का एक्सीडेंट हो गया और उन्हें एक यूनिट ब्लड की आवश्यकता थी उसे समय ना उनके  परिवार व रिश्तेदार उन्हें ब्लड देने से इनकार कर दिया उन्होंने वीरू विधायक को फोन किया और कहा डॉक्टर कह रहे हैं कि जब तक ब्लड का इंतजाम नहीं होगा ऑपरेशन नहीं हो सकता फिर वीरू विधायक की टीम ने ब्लड बैंक पहुंचकर ब्लड डोनेट किया और अशोक रावत ने वीरू विधायक की टीम का आभार व्यक्त किया वीरू विधायक ने बताया कि हमारी टीम के द्वारा 4 महीने में 13 यूनिट ब्लड डोनेट किया गया है।
 
Tags: Ayodhya

About The Author