मेरा बल्ला, मेरी बारी, खेल की यह कैसी तैयारी 

 

बदायूं। बदायूं के सियासी मैदान मे खेलने के लिए टीमों ने तैयारी शुरू कर दी है। बदायूं का सियासी मैदान में ज्यादातर सफा पिच रही है। बदायूं के मैदान की खासियत है कि यहां मैदान मे ज्यादातर बाहरी खिलाड़ी ही जीते हैं। सियासी मैदान मे खेल का सीजन आने वाला है। जिसको लेकर एक टीम के अम्पायर ने सफा पिच का मुआयना शुरू कर दिया। यह भी बताते चलें कि एक टीम ने अपने अनुभवी खिलाड़ी पर भरोसा किया है क्योंकि यह अनुभवी खिलाड़ी बदायूं के मैदान में पांच शतक लगा चुके हैं। वो बात अलग है कि पांच शतक से दर्शकों को मजा नही आया था क्योंकि अनुभवी खिलाड़ी सिर्फ मैच के दौरान ही बदायूं आते जाते थे। जबकि दर्शक अपने खिलाडी से समय समय पर मिलना चाहते रहते थे। अनुभवी अम्पायर ने अपने खेल की शुरुआत दूसरी टीम से की थी, जब वो टीम आउट आफ फार्म चल रही थी तब अनुभवी खिलाड़ी फार्म मे चल रही टीम मे शामिल होकर मैच जीते थे। मैदान में पिछले सीजन के दौरान ओपनिंग बल्लेबाजी करने को लेकर नाराज अनुभवी खिलाड़ी अपनी पहली वाली टीम की ओर से खेले थे, भले ही इस मैच मे अनुभवी खिलाड़ी जीत नही पाए थे लेकिन अपनी दूसरी टीम के दो शतक लगाने वाले खिलाड़ी को भी मैच जीतने नही दिया था। यह अनुभवी खिलाड़ी फिर अपनी दूसरी वाली टीम मे शामिल हो गए थे। अनुभव ज्यादा होने पर टीम के खिलाड़ियों ने अनुभवी खिलाड़ी को अम्पायर बनाकर जिम्मेदारी दी हैं। जिससे आने वाले सीजन मे टीम जीत हासिल करे। खेल के सीजन को नज़र रखते हुए अनुभवी अम्पायर ने बदायूं मैदान की सफा पिच का मुआयना शुरू कर दिया है। अनुभवी अम्पायर ने कुछ खिलाड़ियों का चयन कर टीम कमेटी से मोहर लगवा दी है। अब यह अलग बात कि मैच के दौरान कौन खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करेगा लेकिन अनुभवी खिलाड़ी अपनी कोशिश मे कोई कमी नहीं कर रहे हैं। अनुभवी खिलाड़ी ने जो खिलाड़ी चयन करवाएं हैं वो खिलाड़ी इनके सभी मैच मे इनके साथ रहकर इनकी पारियों में हौसला अफजाई करते रहें हैं। दिन व दिन सियासी बाजार मे गर्मी बढ़ती जा रही है। अब भले ही ओपनिंग बल्लेबाजी या किसी और बात को लेकर कोई खिलाड़ी अपनी टीम के खिलाफ नही खेलेंगे लेकिन टीम के खिलाड़ियों मे गुटबाजी से अनुभवी खिलाड़ी का अनुभव भी कम काम करेगा। टीम में गुटबाजी जगजाहिर है, खेल सीजन में सब खिलाड़ी एक साथ रहेंगे या अलग अलग रहेंगे, यह मैच शुरू होने पर ही मालूम होगा। एक टीम ने कुछ खिलाड़ियों का चयन तो कर लिया है लेकिन गुटबाजी को लेकर टीम के खिलाड़ी बाते कर रहे हैं कि अनुभवी खिलाड़ी का ही बल्ला और वो ही तैयारी कर रहे हैं। जिसको लेकर टीम के खिलाड़ियों में हलचल मच गई है। सियासी बाजार में काफी गर्मागर्मी है।

Tags:

About The Author

Latest News

बलौदाबाजार हिंसा-आगजनी की घटना को बसपा सुप्रीमो मायावती ने असमाजिक तत्वों का कृत्य बताया बलौदाबाजार हिंसा-आगजनी की घटना को बसपा सुप्रीमो मायावती ने असमाजिक तत्वों का कृत्य बताया
रायपुर। बलौदा बाजार मे हुई हिंसा और आगजनी की घटना को बसपा प्रमुख मायावती ने षड्यंत्रकारी असामाजिक तत्वों द्वारा की...
नवनिर्मित अटल आवास में पानी, बिजली की सुविधाओं की मांग
अल्पसंख्यक कांग्रेस ने चुनाव में समर्थन के लिए मुस्लिमों, दलितों और पिछड़ों का आभार व्यक्त किया
मेयर ने कहा विजय नगर में 10 एम एल डी पानी की होगी व्यवस्था
शाहिद कहते हैं योगा में शिरकत कर लखनऊ के बाशिंदों की तहजीब ने मेरा मन मोह लिया
एआरटीओ ने गाड़ी सीजकर डेढ़ लाख रोड टैक्स जमा कराया
आरएमएल निदेशक ने डेंटल लैब का किया उद्घाटन