वयोश्री एवं एडिप योजना के तहत चिन्हित कुल 5237 लाभार्थियों को 32 हजार 565 उपकरणों को निःशुल्क प्रदान करने हेतु कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

देश एवं प्रदेश सरकार दिव्यांगजनों के उत्थान हेतु है प्रतिबद्ध- विधायक

वयोश्री एवं एडिप योजना के तहत चिन्हित कुल 5237 लाभार्थियों को 32 हजार 565 उपकरणों को निःशुल्क प्रदान करने हेतु कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

एडिप के 318 व वयोश्री के 1877 चिन्हित लाभार्थियों को सहायक उपकरणों का किया गया वितरण

श्रावस्ती,  जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र श्रावस्ती एवं भारत सरकार की ऐडिप योजना के अन्तर्गत सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को), कानपुर एवं इंडियन रेडक्रास सोसायटी के सहयोग से जिले के एडिप एवं वयोश्री योजना के लाभार्थियों को कृत्रिम अंग व सहायक उपकरण का वितरण कार्यक्रम कलेक्ट्रेट स्थित तथागत हाल में भव्य आयोजन किया गया। जिसका शुभारम्भ सांसद राम शिरोमणि वर्मा, सदस्य विधान परिषद डा0 प्रज्ञा त्रिपाठी, विधायक श्रावस्ती रामफेरन पाण्डेय, जिलाध्यक्ष उदय प्रकाश त्रिपाठी, जिलाधिकारी कृतिका शर्मा, पुलिस अधीक्षक घनश्याम चौरसिया, डिप्टी कमाण्डेंट एस0एस0बी0 निरूपेश एवं एलिम्को कानपुर से आये पदाधिकारियों द्वारा द्वीप प्रज्वलित कर शुभारम्भ किया गया। इस दौरान मा0 सांसद, मा0 सदस्य विधान परिषद, मा0 विधायक, मा0 जिलाध्यक्ष, जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र व एलिम्को कानपुर द्वारा संयुक्त रूप से परीक्षण कैंप द्वारा पूर्व में चिन्हित 4919 राष्ट्रीय वयोश्री योजना एवं 318 एडिप योजना के कुल 5237 लाभार्थियों को 32 हजार 565 उपकरणों को निःशुल्क प्रदान करने हेतु कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। जिसके तहत आज एडिप योजना के 318 व वयोश्री योजना के 1877 चिन्हीत लाभार्थियों को सहायक उपकरणों का वितरण किया गया। जिसमें मोटराइज्ड ट्राईसाईकिल, बी0टी0ई0 (कान की मशीन),  ट्राईसाईकिल, सुग्म्य केन, फोल्डिंग व्हील चेयर, स्मार्ट फोन, बैसाखी, वाॅकिंग स्टिक(छड़ी), रोलेटर सहित अन्य कृत्रिम अंग एवं कैलिपर्स आदि उपकरण शामिल हैं। इस दौरान कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से मुख्य अतिथि केन्द्रीय मंत्री, सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार डा0 वीरेन्द्र कुमार एवं विशिष्ट अतिथि राज्यमंत्री खाद्य एवं रसद तथा नागरिक आपूर्ति सतीश चन्द्र शर्मा ने भी सम्बोधित किया।
इस अवसर पर सांसद ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज दिव्यांगजनों को पूरे देश में सबसे अधिक संख्या में कृत्रिम अंगों एवं उपकरणों का वितरण किया जा रहा है। दिव्यांगजनों के लिए एलिम्को के सहयोग से यह सराहनीय कार्य किया जा रहा है। जिसमें 25 से ज्यादा प्रकार के उपकरणों को वितरित किया जा रहा है। जिससे निश्चित ही दिव्यांगजनों को उनके दैनिक जीवन में सहूलियत मिलेगी और उनका जीवन सुगम हो सकेगा। 
 इस अवसर पर विधायक ने अपने सम्बोधन में कहा कि देश एवं प्रदेश सरकार दिव्यांगजनो के उत्थान हेतु प्रतिबद्ध है। जिसके तहत सरकार द्वारा दिव्यांगजनों के हित में तमाम योजनाओं का संचालन कर दिव्यांगजनों को लाभान्वित किया जा रहा है। जिले के दिव्यांगजनों को के सहायता के लिए आज इसी क्रम में उन्हें कृत्रिम एवं सहायक उपकरण का वितरण किया जा रहा है। जिससे उन्हें दैनिक जीवन में सुगमता होगी। उनहोने कहा कि आज दिव्यांगजनों के लिए निःशुल्क कृत्रिम एवं सहायक अंग उपकरण वितरण का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। जिससे उनके जीवन स्तर में बदलाव आयेगा और वे अपने कार्यों को सुगमता से कर सकेंगे। 
 जिलाध्यक्ष ने कहा कि सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के दिव्यांगजन सशक्तीरकण विभाग द्वारा कार्यरत एलिम्को कानपुर एवं जिला प्रशासन के सहयोग से आज दिव्यांगजनों के लिए कृत्रिम अंगों एवं सहायक उपकरणों का वितरण किया जा रहा है। जिससे दिव्यांगजनों को उनके जीवन में दैनिक कार्यो को करने में सहायता मिल सकेगी। 
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने अपने सम्बोधन में कहा कि इस ऐतिहासिक कार्यक्रम में पधारे अन्य जन प्रतिनिधिगणों, अधिकारियों व दूर-दराज के क्षेत्रों से आए जन सामान्य का स्वागत करती हूँ। आप सभी को बताना चाहूँगी कि इंडियन रेडक्रास सोसाइटी, श्रावस्ती विगत वर्षो से नये कीर्तिमान स्थापित कर रही है। उन्होने का कि मा0 प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से एवं मा0 मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में पिछले वर्ष सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा विगत वर्ष माह मई, जून में चिन्हीकरण कैम्प के उपरान्त लगभग 02 करोड़ के सहायक उपकरणों का वितरण एलिम्को द्वारा किया गया था। इसके पश्चात् माह नवम्बर-दिसम्बर में प्रत्येक ब्लाक के सी0एच0सी0/पी0एच0सी0 पर राष्ट्रीय वयोश्री कार्यक्रम के तहत चिन्हीकरण शिविर का आयोजन कर आज पुनः दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण वितरित किये जा रहे है। जिसके तहत आज एलिम्को के माध्यम से श्रृंखलाबद्ध कैंप लगाकर 4919 राष्ट्रीय वयोश्री योजना एवं 318 एडिप योजना के कुल 5237 लाभार्थियों को 32 हजार 565 कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरण वितरित किये जाने की शुरूआत की गई है, जो 19 फरवरी, 2024 तक जनपद के सभी ब्लाकों में विशेष शिविर लगाकर वितरित किये जायेंगे। एक जिले में बिना किसी राजकोषीय बजट के दिव्यांगजनों के लिए होने वाला यह कार्यक्रम अद्वितीय है। उन्होने कहा कि सामाजिक न्याय के कार्यक्रमों में विशेषकर दिव्यांगजनों के लिए जिला अस्पताल के एक समर्पित भवन में संचालित जिला दिव्यांगजन पुर्नवास केन्द्र का विशेष योगदान रहता है। उन्होने सभी दिव्यांगजनों से आग्रह किया वे एक बार डी0डी0आर0सी0 का अवश्य भ्रमण करें और दी जा रही सुविधाओं का लाभ लें। इसमें दिव्यांगजनों के लिए चिन्हांकन, थेरेपी एवं सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त किये जाने हेतु सहायता उपलब्ध करायी जाती है। उन्होने इंडियन रेडक्रास सोसायटी श्रावस्ती को इस कार्यक्रम एवं सहायता प्रदान के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया है। 
इस अवसर पर राष्ट्रीय सामाजिक रक्षा संस्था के उप निदेशक एच0सी0एस0सी0 रेड्डी ने विभाग की उपलब्धियों/कार्ययोजनाओं पर प्रकाश उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार के दिशा निर्देशों में एलिम्को द्वारा यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है। जिससे जनपद के दिव्यांगजनों को निश्चित ही लाभ मिलेगा, और वे भविष्य में अपने रोजी-रोजगार हेतु प्रयास कर सकेंगे।
कार्यक्रम का संचालन आपदा विशेषज्ञ/सचिव रेडक्रास अरूण कुमार मिश्र ने किया तथा अपर जिलाधिकारी अमरेन्द्र कुमार वर्मा ने कार्यक्रम में पधारने पर जनप्रतिनिधिगणों एवं अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान से किया गया। 
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी न्यायिक राम दत्तराम, एन0एस0एफ0डी0सी0 के मुख्य प्रबन्धक धनपत सिंह, एलिम्को के वरिष्ठ प्रबन्धक विपणन अनुपम प्रकाश, प्रबन्धक विपणन प्रकाश सिंह, सहायक प्रबन्धक ऋषि राज, विपणन अधिकारी नीरज यादव, पुर्नवास विशेषज्ञ क्रमशः अजय सिंह, अवनीश यादव, राजन पाण्डेय, श्रीओम, कृष्णा एवं सहायक शशांक शुक्ला व राम नरेश, रेडक्रास से रवि मिश्र कोषाध्यक्ष, अंकिता सिंह, राहुल पाठक, बलविंदर सिंह, जिला महामंत्री दिवाकर शुक्ला, ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि हरिहरपुररानी सुभाष सत्या, ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि गिलौला प्रकाश चन्द्र, पवनेश शुक्ला, विनय कुमार तिवारी सहित एलिम्को के अन्य कर्मचारीगण, प्रशासन/एस0 एस0 बी0 के अधिकारीगण व दूर-दराज के क्षेत्रों से आए जनसामान्य व दिव्यांग बन्धुगण उपस्थित रहे।

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News