102 और 108 एंबुलेंस में चल रहा फर्जीवाडा मरीज का फर्जी आधार व मोबाइल नंबर डालकर ईएमआरआई कंपनी कर रही करोड़ों का वारा-न्यारा

102 और 108 एंबुलेंस में चल रहा फर्जीवाडा मरीज का फर्जी आधार व मोबाइल नंबर डालकर ईएमआरआई कंपनी कर रही करोड़ों का वारा-न्यारा

सुलतानपुर। गभीर मरीजों को तत्काल अस्पताल पहुंचाने के लिए सरकार ने 102 और 108 एंबुलेंस के रूप में निःशुल्क सेवा दे रखा है। लेकिन जिम्मेदार संस्था ईएमआरआई ग्रीन हेल्थ सर्विस गड़बड़झाला कर रही है। इसकी शिकायत आज सुल्तानपुर डीएम से हुई है।
             जीवनदायिनी स्वास्थ्य विभाग के लेटर हेड पर आज राम नरेश त्रिपाठी, जीतेंद्र कुमार तिवारी, रजनीश कुमार, राहुल सिंह आदि ने लिखित रूप से डीएम से शिकायत किया है। आरोप है कि फर्जी आधार, मोबाइल नंबर लिखकर म कंपनी कर्मचारियों पर दबाव बनाकर मरीज की इंट्री दिखाकर हर महीने करोड़ों का भुगतान करा रही है। एंबुलेंस में ऑक्सीजन सिलेंडर और जीवन रक्षक दवाओं का भी आभाव है। यही नहीं ना समय पर एंबुलेंस के लिए डीजल मिलता है और ना ही किसी एंबुलेंस में स्टेपनी ही है। इन समस्याओं के चलते मरीज को एंबुलेंस सेवा मिलने में दिक्कत आ रही है। आरोप ये भी हैं कि कंपनी ड्राइवर की नियुक्ति के लिए 25 हजार और टेक्नीशियन की नियुक्ति के लिए 45 हजार के लिए लेती है। इसीलिए पुराने कर्मियों को निकालकर हर महीने नए की नियुक्ति की जा रही है। एक कर्मचारी को कई-कई दिनों तक लगातार ड्यूटी कराई जा रही है। जिले के अधिकारी वॉट्स ऐप ग्रुप बनाकर केस टारगेट देते हैं। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए डीएम ने जांच कराकर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
Tags:

About The Author

Latest News

खड़ंजा खोदने को लेकर दो पक्षों में हुए खूनी सघर्ष में घायल एक व्यक्ति की इलाज के दौरान मृत्यु खड़ंजा खोदने को लेकर दो पक्षों में हुए खूनी सघर्ष में घायल एक व्यक्ति की इलाज के दौरान मृत्यु
कौशाम्बी।  जिले के कौशाम्बी थाना क्षेत्र के बेरौचा गांव में दरवाजे के सामने लगे खड़ंजा खोदने को लेकर दो पक्षों...
गैर इरादतन हत्या के मामले में अभियुक्त व अभियुक्ता को किया गया गिरफ्तार
माल क्षेत्र में अवैध कच्ची शराब बरामद
बलरामपुर गार्डन में शुरू हुआ भव्य श्रीराम हनुमत महोत्सव
पीजीआई ने रूमैटिक हृदय रोग  उन्मूलन के लिए कसी कमर
डीएम की अध्यक्षता मे गेहू खरीद के संबंध में समीक्षा बैठक हुई आयोजित।
मां स्कंदमाता की गई आराधना