विश्व की प्रथम महिला शिक्षिका पर अलीगढ़ में बनेंगी फीचर

फिल्म राष्ट्रमाता सावित्री बाई टाइटल की मुंबई से मिली स्वीकृति

विश्व की प्रथम महिला शिक्षिका पर अलीगढ़ में बनेंगी फीचर

अलीगढ़। विश्व और भारत की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्री बाई फुले पर आधारित हिंदी फीचर फिल्म का निर्माण अलीगढ़ में होने जा रहा है। जिसमें मुंबई के कई प्रमुख कलाकारों के अलावा अलीगढ़ के कलाकार भी नजर आएंगे।

उक्त जानकारी गांधीपार्क चौराहे स्थित धीरज पैलेस के सिटी क्लब में आयोजित एक प्रेसवार्ता में फिल्म निर्माता भूपेंद्र सिंह व एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर पंकज धीरज ने बताया कि एक महान महिला के व्यक्तित्व और शैक्षणिक सेवा के ऊपर इस फिल्म का निर्माण सुसैन फिल्म एंटरटेनमेंट द्वारा किया जा रहा है। फिल्म का टाइटल 'राष्ट्रमाता सावित्री बाई' मुंबई सिने जगत में रजिस्टर्ड हो चुका है।

फिल्म की शूटिंग जल्द ही अलीगढ़ में की जाएगी। प्रेसवार्ता में वक्ताओं ने आगे बताया कि

सावित्रीबाई फुले का सबसे बड़ा योगदान महिलाओं और खासकर दलितों की शिक्षा के लिए अलख

जगाना रहा था। 3 जनवरी 1831 को महाराष्ट्र के सतारा स्थित नायगांव में पैदा हुई सावित्रीबाई फुले

महज 17 साल की उम्र में ही अध्यापिका और प्रधानाचार्या बन गई थी। विश्व और भारत की प्रथम

महिला शिक्षिका के रूप में उनकी एक अलग पहचान है। फिल्म के निर्देशक श्याम चरण, गीतकार

अवनीश राही, डीओपी प्रभात ओझा, लेखिका विमला सिंह आदि हैं।

ज्ञात रहे कि उक्त फिल्म निर्माताओं द्वारा पूर्व में चार हिंदी फीचर फिल्मों देशी रेसलर, मुंबई दू आगरा, जनम जनम का बंधन और मिशन ओवर सहित करीब चार दर्जन से अधिक डॉक्यूमेंट्री, शॉर्ट फिल्म आदि का निर्माण किया जा चुका है।

Tags:

About The Author

Latest News

रिम्स में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल और वेट लैब स्थापित रिम्स में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल और वेट लैब स्थापित
रांची। रिम्स के क्षेत्रीय नेत्र संस्थान में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल एवं वेट लैब स्थापित किया गया है। रिम्स...
मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन चार मार्च को जाएंगे गिरिडीह
मतदान के प्रति जागरूक करना हमारी नैतिक जिम्मेवारी: निदेशक
सीआईडी ने दो साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार
जबलपुर इंजीनियरिंग कालेज को "टेक्नोलॉजी हब" बनाने की दिशा में हो क्रियान्वयन: मंत्री परमार
मंत्री कृष्णा गौर ने की गुफा मंदिर में महाशिवरात्रि आयोजन की तैयारियों की समीक्षा
अपने लोगों पर गर्व करने की परंपरा करनी होगी विकसित: उच्च शिक्षा मंत्री परमार