आईवीआरआई में वार्षिक सम्मेलन एवं अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का समापन

आईवीआरआई में वार्षिक सम्मेलन एवं अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का समापन

बरेली। भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान के जैव रसायन विभाग द्वारा स्वर्ण जयन्ती समारोह के अवसर पर’’एक स्वास्थ्य के लिए मल्टीओमिक्सः जैव चिकित्सा अनुसंधान में चुनौतियां एवं संभावनाएं’ विषय पर दो दिवसीय एस.वी.बी.बी.आई के सप्तम वार्षिक सम्मेलन एवं अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का शुक्रवार को समापन हो गया। समापन अवसर पर दो दिनों में पढ़े गये शोध पत्रों में से उत्तम शोध पत्रों को पुरस्कृत किया गया। इस अवसर सोसाइटी द्वारा सर्वश्रेष्ठ शिक्षक पुरस्कार डा. वरखा गुप्ता एवं सर्वश्रेष्ठ वैज्ञानिक का पुरस्कार डा. वरूना को दिया गया।
 
इस अवसर पर विभाग के पूर्व विभागाध्यक्षों स्व. डा.एल.एन. सिंह (मरणोपरांत) डा. एस.के.एल. टण्डन, डा. अशोक कुमार, डा. भास्कर शर्मा, डा. पारितोष जोशी, डा. मीना कटारिया एवं डा. उग्रसेन सिंह को भी सम्मानित किया गया। समापन अवसर पर मुख्य अतिथि डा. मन मोहन सिंह. चौहान, कुलपति, गोविन्द बल्लभ पंत कृषि एवं तकनीकी विश्वविद्यालय, पंतनगर ने सर्वप्रथम आईवीआरआई से जुड़े हुये अपने अनुभव साझा किये। अपने उद्बोधन में डा. चौहान ने कहा कि जैव रसायन एवं जैव प्रौद्योगिकी की समझ किसी भी तकनीकी विकास एवं खोजों में सबसे महत्वपूर्ण योगदान देता है।
 
संस्थान के निदेशक एवं कुलपति डा. त्रिवेणी दत्त ने संस्थान के पूर्व वैज्ञानिकों और उनके शोध कार्यों की प्रंशसा की। डा. दत्त ने कहा कि न केवल संस्थान की परियोजनाओं में बल्कि शिक्षण के क्षेत्र में, जैव रसायन विभाग से संस्थान के सबसे ज्यादा विद्यार्थियों को लाभ प्राप्त होता है। नयी शिक्षा नीति 2020 को ध्यान में रखते हुए आधारभूत संस्थान जैसे कि कॉलेज ऑफ बेसिक साइंस की स्थापना पर बल दिया। दो दिवसीय अन्तराष्ट्रीय संगोष्ठी की प्रगति आख्या प्रस्तुत करते हुए सचिव डा. शुभाशीष बटाब्याल ने बताया कि इस संगोष्ठी में देश विदेश के कुल 230 प्रतिभागियों ने भाग लिया
 
तथा इस दौरान 6 लीड पेपर, 12 आमंत्रित व्याख्यान सहित कुल 68 ओरल प्रस्तुति तथा 70 पोस्टर 6 तकनीकी सेशन के अन्तर्गत प्रस्तुत किये गये। इन छ तकनीकी सेशनों में सर्वश्रेष्ठ 03-03 प्रस्तुतियों को पुरस्कृत किया गया। समापन समारोह में आयोजन सचिव डा. मनीष महावर प्रधान वैज्ञानिक जैव रसायन विभाग ने उपस्थित सभी गणमान्य लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया। संगोष्ठी के सफल संचालन में जैव रसायन विभाग के विभागाध्यक्ष डा. राघवेन्द्र सिंह, डा. मोहनी सैनी, डा. प्रवीण सिंह, डा. संजीव भूरे, डा. अजय कुमार, डा. करूणा, डा. अमीर सामल, डा. मुकेश डा. चन्द्रमोहन तथा डा. मीता सक्सेना का सराहनीय योगदान रहा।
 
 
Tags: Bareilly

About The Author

Latest News

खड़ंजा खोदने को लेकर दो पक्षों में हुए खूनी सघर्ष में घायल एक व्यक्ति की इलाज के दौरान मृत्यु खड़ंजा खोदने को लेकर दो पक्षों में हुए खूनी सघर्ष में घायल एक व्यक्ति की इलाज के दौरान मृत्यु
कौशाम्बी।  जिले के कौशाम्बी थाना क्षेत्र के बेरौचा गांव में दरवाजे के सामने लगे खड़ंजा खोदने को लेकर दो पक्षों...
गैर इरादतन हत्या के मामले में अभियुक्त व अभियुक्ता को किया गया गिरफ्तार
माल क्षेत्र में अवैध कच्ची शराब बरामद
बलरामपुर गार्डन में शुरू हुआ भव्य श्रीराम हनुमत महोत्सव
पीजीआई ने रूमैटिक हृदय रोग  उन्मूलन के लिए कसी कमर
डीएम की अध्यक्षता मे गेहू खरीद के संबंध में समीक्षा बैठक हुई आयोजित।
मां स्कंदमाता की गई आराधना