विकसित भारत के लिए जन आंदोलन बन गया है संकल्प यात्रा : गिरिराज सिंह

 विकसित भारत के लिए जन आंदोलन बन गया है संकल्प यात्रा : गिरिराज सिंह

 । हमारा संकल्प विकसित भारत को आत्मसात कर 2047 तक विकसित राष्ट्र बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ''गारंटी वाली गाड़ी'' के माध्यम से गांव-गांव में लोगों को योजनाओं की जानकारी देने के साथ-साथ स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने का प्रयास निरन्तर जारी है।

शनिवार को राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर के गांव सिमरिया स्थित पुस्तकालय में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का लाइव प्रसारण किया गया। कार्यक्रम में सैकड़ों युवा, महिलाएं, किसान और विभिन्न वर्गों के लोग शामिल हुए। इसके बाद कसहा में भी कार्यक्रम आयोजित किया गया। दोनों जगह गिरिराज सिंह समेत अन्य जनप्रतिनिधि और भाजपा नेता भी शामिल हुए।

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि लोगों के स्नेह और भागीदारी को देखते हुए, विकसित भारत संकल्प यात्रा नित्य नया कीर्तिमान स्थापित कर रही है। ''मोदी का गारंटी वाहन'' अब तक 12 हजार से अधिक ग्राम पंचायतों तक पहुंच चुका है, जहां लगभग 30 लाख नागरिक इससे जुड़ चुके हैं। विकसित भारत संकल्प यात्रा में महिलाओं की भागीदारी काफी सराहना है।

उन्होंने कहा कि हर गांव का प्रत्येक व्यक्ति विकास का अर्थ समझता है। विकसित भारत संकल्प यात्रा जैसी पहल से एक जन आंदोलन में बदल गया है। भारत के लोगों ने विकसित राष्ट्र बनाने का निर्णय लिया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में किसान सम्मान निधि, बहनों को उज्जवला योजना, पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के माध्यम से देश के 80 करोड़ से अधिक लोगों को मुफ्त खाद्यान्न उपलब्ध कराया गया।

आयुष्मान कार्ड, आवास योजना और हर घर शौचालय के निर्माण से महिलाओं का आत्मसम्मान बढ़ा तथा वे आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर हुई हैं। उन्होंने कहा कि जहां दूसरों से अपेक्षाएं खत्म होती हैं, वहां से मोदी की गारंटी शुरू होती है। प्रधानमंत्री इस यात्रा के माध्यम से यह प्रयास करना चाहते हैं कि गरीबों के जीवन स्तर में बदलाव लाने के लिए बनाई गई योजनाएं आम जनता तक पहुंचे और पात्र लोगों को लाभ मिले।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार सरकार जीवन स्तर में सुधार लाने और गरीब परिवारों से गरीबी दूर करने, युवाओं के लिए रोजगार और स्वरोजगार के अवसर पैदा करने, भारत की महिलाओं को उनकी समस्याओं से मुक्त करके उन्हें सशक्त बनाने और भारत के किसानों की आय और क्षमताओं में सुधार करने का प्रयास कर रही है। मोदी पीएम नहीं थे तो बेगूसराय में सवा से डेढ़ लाख लोगों के घर में गैस सिलेंडर जलता था, आज सात लाख से अधिक परिवार के घरों में गैस सिलेंडर पर खाना बन रहा है।

पहले 30 से 35 हजार लाभार्थियों को ही आवास योजना का लाभ मिला था, लेकिन आज डेढ़ लाख लोगों को यह लाभ दिया गया है। पहले महिलाओं को शौचालय जाने में परेशानी होती थी, आज मोदी ने संकल्प लेकर इज्जत का घर बना दिया है। घर-घर बिजली, जनधन खाता में कोरोना के दौरान सहयोग राशि समेत विभिन्न क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े लोगों के लिए कार्य कर रहे हैं।

 

इस दौरान जीविका दीदी, आयुष्मान भारत, बैंक से मिलने वाली लाभ, कृषि, मनरेगा, राशन, डाक, एग्रो ड्रोन, उज्जवला योजना एवं स्वास्थ्य विभाग सहित कई अन्य विभागों के द्वारा शिविर लगा लोगों को सरकार के योजनाओं से अवगत कराया गया। जबकि ''मेरी कहानी मेरी जुबानी'' के तहत लक्ष्मी देवी, जूली कुमारी, पिंकी देवी, श्रीदेव पासवान, सुनीता देवी एवं सुनील कुमार ने योजनाओं के लाभ का संस्मरण सुनाया।

Tags:

About The Author

Latest News