जनसंचार अनुसंधान के अंतर्राष्ट्रीय संघ के उपाध्यक्ष चुने गए प्रोफेसर गोविंद पांडेय

जनसंचार अनुसंधान के अंतर्राष्ट्रीय संघ के उपाध्यक्ष चुने गए प्रोफेसर गोविंद पांडेय

लखनऊ। बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय (केंद्रीय विश्वविद्यालय) के जनसंचार और पत्रकारिता विभाग के विभागाध्यक्ष, प्रोफेसर गोविंद जी पांडेय, को जनसंचार अनुसंधान के अंतर्राष्ट्रीय संघ (International Association of Mass Communication Research , IAMCR) के उपाध्यक्ष के चुनाव में 73% वोट हासिल हुआ और वो विजुआल कल्चर वर्किंग ग्रुप मे वाइस-चेयर (उपाध्यक्ष) पद के लिए चुन लिए गए। प्रोफेसर पांडेय 2024 से 2028 की अवधि के लिए की विज़ुअल कल्चर वर्किंग ग्रुप के  वाइस-चेयर (उपाध्यक्ष) बने रहेंगे।

2024 में शुरु हुई इस चुनाव की प्रक्रिया मे तकरीबन नब्बे देशों के शिक्षाविदों ने विभिन्न रिसर्च ग्रुप के चुनाव मे भाग लिया। जनसंचार अनुसंधान के अंतर्राष्ट्रीय संघ  के 11 वर्गों और कार्य समूहों की नेतृत्व टीमों के लिए चुनाव आयोजित किए गए थे। मतदान की अवधि 14 मई को समाप्त हुई, और चुनाव परिणाम आज आया है। निर्वाचित अधिकारी क्राइस्टचर्च, न्यूजीलैंड, सम्मेलन के दौरान महासभा में औपचारिक रूप से अपने पदों को ग्रहण करेंगे।

IAMCR - मीडिया और संचार अनुसंधान के क्षेत्र में विश्वव्यापी पेशेवर संगठन है। चयन प्रकिया में  90 देशों के 2,800 से अधिक सक्रिय सदस्य एवं  80 से अधिक अनुभाग और कार्य समूह अध्यक्ष और प्रतिनिधि शामिल हुए।

विभाग के शोध छात्रों ने कहा की बाबासाहेब भीम राव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी के पत्रकारिता विभाग के लिए ये एक गौरव का क्षण है। इस विश्वस्तरीय संस्था मे बीबीएयू की ओर से प्रो गोविंद जी पाण्डेय भाग लेंगे। इससे विभाग मे शोध के स्तर को अन्तराष्ट्रीय स्तर तक पहुचाने मे मदद मिलेगी। 

प्रो गोविंद जी पाण्डेय ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया की वो इन चार सालो के द्वारान विज़ुअल कल्चर को भारत मे बढ़ावा देने के लिए काम करेंगे। इस कार्य के लिए स्थानीय सरकार का भी समर्थन लिया जाएगा जिससे कि भारत की विलुप्त होती विसुअल कल्चर को भी पुनर्स्थापित करने का प्रयास किया जाएगा। विभाग के शिक्षक डॉ लोकनाथ, डॉ अरविन्द सिंह, डॉ महेंद्र कुमार पाधि सहित स्टाफ और बच्चों ने प्रो गोविंद जी पाण्डेय को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी।

About The Author

Tarunmitra Picture

‘तरुणमित्र’ श्रम ही आधार, सिर्फ खबरों से सरोकार। के तर्ज पर प्रकाशित होने वाला ऐसा समचाार पत्र है जो वर्ष 1978 में पूर्वी उत्तर प्रदेश के जौनपुर जैसे सुविधाविहीन शहर से स्व0 समूह सम्पादक कैलाशनाथ के श्रम के बदौलत प्रकाशित होकर आज पांच प्रदेश (उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तराखण्ड) तक अपनी पहुंच बना चुका है। 

Latest News