माधवी राजे सिंधिया के अंतिम संस्कार में तीन राज्यों के मुख्यमंत्री समेत कई वीआईपी होंगे शामिल

माधवी राजे सिंधिया के अंतिम संस्कार में तीन राज्यों के मुख्यमंत्री समेत कई वीआईपी होंगे शामिल

ग्वालियर। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मां माधवीराजे सिंधिया का आज (गुरुवार) शाम पांच बजे ग्वालियर में अंतिम संस्कार होगा। आज उनकी पार्थिव देह ग्वालियर के रानी महल में दोपहर तीन बजे तक अंतिम दर्शन के लिए रखी जाएगी। इसके बाद शाम पांच बजे सिंधिया छत्री पर उनका राजसी परंपरा के अनुसार अंतिम संस्कार किया जाएगा। एयरपोर्ट से लेकर सिंधिया छत्री परिसर तक किलेबंदी की गई है। केंद्रीय मंत्री सिंधिया की मां माधवी राजे का बुधवार को सुबह 75 वर्ष की उम्र में दिल्ली में निधन हो गया था।उनके अंतिम संस्कार में प्रदेश और देश के अलग-अलग राज्यों से राजनीति, कारोबार और अन्य क्षेत्रों से जुड़ी कई बड़ी हस्तियां शामिल होंगी। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव, राजस्थान के मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के अलावा प्रदेश सरकार में मंत्री कैलाश विजयवर्गीय व तुलसीराम सिलावट सहित कई मंत्री शामिल होंगे। नेपाल, जम्मू-कश्मीर व बड़ोदा सहित देश के कई राजपरिवार भी अंतिम संस्कार में शामिल होंगे।

राजमाता माधवी राजे सिंधिया के अंतिम संस्कार में ग्वालियर-चंबल अंचल के आठ जिलों ग्वालियर, दतिया, भिंड, मुरैना, श्योपुर, अशोकनगर, गुना से हजारों की संख्या में लोग पहुंचेंगे। इनके लिए अलग-अलग पार्किंग व आने के रास्ते निर्धारित किए गए हैं। इसे ध्यान में रखकर पुलिस ने इंतजाम किए हैं। सिंधिया छत्री परिसर में हर वर्ग के खड़े होने और बैठने के लिए अलग व्यवस्था है, जहां राजमाता माधवी राजे सिंधिया का अंतिम संस्कार होगा। एक ओर आम लोगों के खड़े होने के लिए व्यवस्था रहेगी, जबकि दूसरी ओर वीवीआईपी और उसके पास में दायीं तरफ वीआईपी बैठेंगे। इनके आने के लिए अलग-अलग गेट निर्धारित किए गए हैं। सामने की ओर शाही घरानों से आने वाले सदस्य रहेंगे। ग्वालियर एसपी धर्मवीर सिंह ने बताया कि गुरुवार को शहर में कई वीआईपी और वीवीआईपी के साथ राजघरानों के सदस्य आ रहे हैं। ऐसे में सुरक्षा के इंतजाम किए हैं। दो हजार से ज्यादा जवान व अफसर तैनात किए गए हैं। एयरपोर्ट से लेकर सिंधिया छत्री परिसर तक किलेबंदी की गई है। पुलिस ने छत्री परिसर को नो व्हीकल जोन घोषित किया है। जिस रूट से अंतिम यात्रा निकलनी है, वहां न कोई आ पाएगा, न जा पाएगा। एयरपोर्ट से रानी महल तक जब पार्थिव देह लाई जाएगी, तो ट्रैफिक रोक दिया जाएगा। माधवी राजे के निधन के बाद पूरे ग्वालियर नगर में शोक की लहर है। आज शहर के बाजार बंद रखे गए हैं। दाल बाजार के साथ लोहिया बाजार और सर्राफा बाजार में ऐच्छिक बंदी रहेगी। चेंबर आफ कामर्स का कार्यालय भी बंद रहेगा। जीवाजी क्लब तीन दिन के लिए बंद किया गया है। ग्वालियर व्यापार मेला में शुरू हुआ समर नाइट मेला तीन दिन बंद रहेगा।




Tags:

About The Author

Latest News