बदहाल कई प्रमुख मार्गों को लेकर ट्रोल हो रहे भाजपा विधायक

सुल्तानपुर। कादीपुर विधानसभा क्षेत्र में बदहाल सड़के विधायक की गले की फांस बन गई है। सोशल मीडिया पर भाजपा विधायक ट्रोल हो रहे हैं। करौंदीकला में तो बाकायदा ऐलान हो गया है, 'रोड नहीं तो वोट नहीं।' हालांकि यहां जिस सड़क को लेकर प्रोटेस्ट चल रहा है उसका प्रस्ताव पीडब्लूडी विभाग ने शासन को भेज रखा है। लेकिन इस सड़क के अलावा दोस्तपुर-कादीपुर मार्ग, स्वयं विधायक के पैतृक आवास को जाने वाला मार्ग जिस तरह क्षतिग्रस्त है उससे क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि के नाते उनके खिलाफ आवाज उठना लाजमी है।बताते चलें कि करौंदीकला से रवनिया की 12 किलोमीटर की दूरी है। इस लंबी सड़क की सालों से उपेक्षा ने आमजन के सब्र का बांध तोड़कर रख डाला है।

इसलिए पॉलिटिकल लीडर के बिना इस सड़क को लेकर अब एक बड़ा आंदोलन खड़ा हो चुका है स्वत: स्फूर्त आंदोलन की तैयारी पहले सोशल मीडिया से चली। इसके बाद ग्रामीण खुद घर-घर पर्चा बांटने पहुंचे। सड़क नहीं तो वोट नहीं के नारे क्षेत्र में लगे। बीते गुरुवार को करौंदीकला थाने तक एक जनाक्रोश यात्रा निकाली गई। हालांकि लोक निर्माण विभाग ने इसका प्रस्ताव भी भेज रखा है, लेकिन रोज हो रहे हादसों के कारण अब लोग चुप बैठने को तैयार नहीं हैं।इसके अलावा दोस्तपुर-कादीपुर रोड कागजों पर रोड बन चुका है।

कहा जा रहा कि भुगतान हो चुका है, बावजूद इसक निर्माण कार्य अब भी जारी है। यहां गड्ढे इतने बड़े-बड़े हैं कि दिन भर में दो-चार लोग गिरते ही रहते हैं। दोस्तपुर से नेमपुर तक सड़क पैदल चलने लायक नहीं है। 6 वर्षों से विधायक अपने निवास को जाने वाला मार्ग बनवाना तो दूर गड्ढा मुक्त भी नहीं करवा पाए। सूत्रों की माने तो करौंदीकला जैसे हालात खुद विधायक के इलाके में हो सकता है।दोस्तपुर से कादीपुर मार्ग की हालत काफी दयनीय है। पिछले कई वर्षों से यह मार्ग बन रहा है, लेकिन एक तरफ बनता है जो दूसरी तरफ गड्ढा युक्त हो जाता है। 

हो भी क्यों नहीं? क्योंकि इसका ठेका भाजपा सरकार के पूर्व मंत्री के बेटे का जो रहा है। इसलिए अधिकारी व विधायक भी चाह के कुछ नहीं कर सके।उधर दोस्तपुर-कादीपुर रोड का निर्माण करा रही कार्यदायी संस्था ने ब्लॉक चौराहे पर एक महीने पहले सड़क के दोनों किनारे गड्ढा खोदकर मिट्टी और गिट्टी पाट दिया है। जिसके कारण दिनभर धूल उड़ती रहती है। दुकानदारों को दिनभर कठिनाई का सामना करना पड़ता है। और तो और हल्की बारिश होने पर मिट्टी गीली होने के कारण कई राहगीर गिरकर चोटिल हुए।




Tags: Sultanpur

About The Author

Latest News