सीएम बघेल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

सीएम बघेल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार देर शाम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है। पत्र में बघेल ने ऑनलाइन बेटिंग के अवैध कारोबार से जुड़े प्लेटफार्म, वेब, एपीके, टेलीग्राम, इंस्टाग्राम, यूआरएल. इत्यादि पर पूर्ण प्रतिबंध की मांग की है। उन्होंने लिखा कि विगत समय में ऑनलाइन बेटिंग, गेमिंग के माध्यम से अवैध जुआ एवं सट्टा कारोबार का देशव्यापी विस्तार हुआ है तथा इसके संचालक एवं स्वामी विदेशों से उक्त अवैध कारोबार का संचालन करते आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ सरकार एवं राज्य की पुलिस द्वारा प्रारंभ से ही इस अवैध कारोबार के संबंध में कठोर कार्रवाई की जाती रही है, इस संबंध में विभिन्न अपराध दर्ज करके संलिप्त आरोपितों को पकड़ने तथा परिसंपत्तियों जब्त करने में भी सफलता प्राप्त की गई है।

बघेल ने आगे लिखा है कि मार्च 2022 से अब तक 90 से अधिक आपराधिक प्रकरण इस संबंध में छत्तीसगढ़ पुलिस ने दर्ज किये हैं, जिनमें 450 से अधिक आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है, बैंक खातों में 16 करोड़ रुपये फ्रिज करवाये जा चुके हैं। कई लैपटॉप, मोबाइल फोन जब्त किये जा चुके हैं। मुख्य आरोपितों के विरुद्ध लुक आउट सर्कुलर जारी किया जा चुका है, देश के विभिन्न राज्यों में भी जाकर छत्तीसगढ़ पुलिस ने कार्रवाई की है, जबकि इनका संचालन छत्तीसगढ़ से नहीं होता। बघेल ने पत्र में लिखा है कि छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा 80 ऑनलाईन गेमिंग प्लेटफार्म / यू.आर.एल./लिंक/ए.पी.के. को निलंबित करने के लिये इलेक्ट्रिॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार को पत्राचार भी किया गया है। गूगल से पत्राचार करके इस अवैध कारोबार में संलिप्त 'महादेव एप' को प्ले स्टोर से रिमूव करवाया गया है।

हाल ही में इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार द्वारा महादेव बुक सहित 22 अवैध बेटिंग एप्स और वेब साइट्स पर प्रतिबंध लगाया गया है। इस संबंध में ध्यान योग्य बात यह है कि यह अवैध कारोबार कई अंतरराष्ट्रीय/देशीय मोबाइल नम्बरों, मेल आई.डी., टेलीग्राम, वॉट्सएप, यू.आर.एल. लिंक, इंस्टाग्राम, ए.पी.के. फाईल आदि के माध्यम से भी संचालित होता है। अतः यह समीचीन हो कि इस कारोबार में प्रयोग किये जाने वाले अंतरराष्ट्रीय / देशीय मोबाइल नंबरों, मेल आई.डी., टेलीग्राम, वॉट्सएप, यू.आर.एल. लिंक, इंस्टग्राम, ए.पी.के. फाईल आदि की भी सुनिश्चित पहचान स्थापित करके इन सभी को प्रतिबंधित करवाया जाये।

 

Tags:

About The Author

Latest News