दूसरे दिन भी दर्ज नहीं हो सकी प्राथमिकी

पीड़िता ने कार्यवाहक थाना प्रभारी पर लगाया आरोप

दूसरे दिन भी दर्ज नहीं हो सकी प्राथमिकी

सुबह से लेकर शाम तक थाने में बैठाया और फैसले का दबाव बना रहे थे न करने पर जेल भेजने की धमकी

पीलीभीत। बिलसंडा थाना क्षेत्र के गांव  मरौरी खास की महिला रेशमा देवी ने आरोप लगाया था कि गांव के ही मलखान हीरालाल प्रेमपाल ने 29 जनवरी की रात को उसके घर में घुसकर गला दबाकर छप्पर पोस घर में आग लगा दी थी रेशमा देवी ने बताया कि 21 तारीख को उक्त लोगों के द्वारा बच्चों के झगड़े को लेकर मेरे घर में घुसकर मेरे साथ बा मेरे बच्चों के साथ मारपीट की थी उसी दिन रात में चार लोगों के खिलाफ घर में घुसकर मारपीट करने की प्राथमिकी दर्ज कर ली गई थी पीड़िता का आरोप है कि उक्त सभी लोग फैसला करने का दबाव बना रहे थे जब मैंने फैसला करने से मना कर दिया तो तभी सभी लोगों ने मुझे धमकी दी थी कि तुम्हें जिंदा ही जला देंगे जिसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी की गई थी लेकिन कोई कार्रवाई न होने के कारण दबंगों द्वारा 29 तारीख को मेरे घर में घुसकर मेरी गर्दन दवाई जब बच्चे चिल्लाने लगे तभी उक्त लोगों के द्वारा मेरे घर में आग लगा दी गई जिससे मेरा छप्पर पोस घर जलकर राख हो गया जिसमें हजारों का सामान भी जल गया।कार्यवाहक थाना प्रभारी हरबंस कुमार ने बताया कि विवाद के मामले में आरोपियों पर शांति व्यवस्था बना रखने के लिए चालान किया गया है जांच की जा रही है जांच के आधार पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Tags: pilibhit

About The Author

Latest News