जिले के सलखुआ निवासी शिक्षक पुत्र मयंक ने यूपीएससी परीक्षा में देश में लाया 82वां रेंक

जिले के सलखुआ निवासी शिक्षक पुत्र मयंक ने यूपीएससी परीक्षा में देश में लाया 82वां रेंक

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा (ESE 2023) का फाइनल रिजल्ट मे जिले के सलखुआ प्रखंड अंतर्गत माठा गांव निवासी शिक्षक राजीव रंजन उर्फ पप्पू के पुत्र मयंक रंजन ने ऑल इंडिया में 82 वां रैंक प्राप्त किया है। परिणाम की जानकारी मिलते ही परिजनों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है।

मयंक की सफलता मिलने पर बधाईयों का तांता लग गया है। गांव वाले भी मयंक की सफलता पर खुशी जता रहे हैं। मयंक वर्तमान में भारत सरकार के लोक निर्माण विभाग(cpwd) में अभियंता के पद पर कार्यरत हैं। वह छठ पूजा में गांव आया हुआ है। मयंक ने इंटरमीडिएट की परीक्षा डीपीएस बोकारो, बी-टेक आईआईटी ( आईएसएम) धनबाद से किया।

मयंक ने गेट परीक्षा में ऑल इंडिया 510 वां रैंक प्राप्त किया था। बचपन से ही प्रतिभावन मयंक की सफलता पर जाने माने शिक्षाविद् दादा सेवानिवृत्त शिक्षक ब्रह्मदेव कुमार यादव व दादी सुकीर्ति देवी ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि सफलता प्राप्त करने के लिए कड़ी लगन व मेहनत की जरूरत पड़ती है जो मयंक ने किया और आज परिणाम सामने है। मयंक रंजन के पिता मध्य विद्यालय बनकटी के एचएम राजीव रंजन व माता अर्चना देवी पुत्र की सफलता पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि सफल होने के लिए लगन की जरूरत होती है। जो बच्चे लगन से पढ़ाई करेंगे उन्हें सफलता जरूर मिलेगी। सलखुआ पंचायत समिति सदस्य पीयुष गोयल ने भतीजे की सफलता पर खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि मयंक ने परिवार सहित जिले का नाम रोशन किया है।

मयंक पर हम सबों को नाज है। ज्ञात हो कि माठा गांव में इससे पहले वर्ष 2019 में गजेन्द्र प्रसाद यादव के पुत्र चन्द्र प्रकाश ने यूपीएससी परीक्षा में बाजी मारी थी। वर्तमान में वो आरा में सहायक पुलिस अधीक्षक के पद पर पदस्थापित है।यहां बताते चलें कि आयोग की तरफ से जारी रिजल्ट के मुताबिक 401 उम्मीदवारों को नियुक्ति के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया है। जिनमें से 178 सिविल इंजीनियरिंग के लिए, 46 मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए और 64 इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स और टेलीकम्युनिकेशन इंजीनियरिंग के लिए चुने गए हैं।

Tags:

About The Author

Latest News