भारतीय उच्चायोग के हस्तक्षेप से श्रीलंका की जेल से रिहा हुए तमिलनाडु के 15 मछुआरे

भारतीय उच्चायोग के हस्तक्षेप से श्रीलंका की जेल से रिहा हुए तमिलनाडु के 15 मछुआरे

लखनऊ। कोलंबो स्थित भारतीय उच्चायोग के हस्तक्षेप के बाद भारत के 15 मछुआरों को श्रीलंका की जेल से रिहा किया गया है। तमिलनाडु के 15 मछुआरे चेन्नई एयरपोर्ट पहुंचे, श्रीलंका में स्थित भारतीय उच्चायोग ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ पर जानकारी देते हुए लिखा घर वापसी, श्रीलंका से 15 भारतीय मछुआरों को उनकी मातृभूमि में सुरक्षित वापस भेज दिया गया है।

दो मशीनीकृत नौकाओं पर सवार होकर 15 मछुआरे 14 नवंबर को मछली पकड़ने के लिए रामेश्वरम से निकले थे, लेकिन कथित रूप से श्रीलंकाई जल क्षेत्र में प्रवेश करने के कारण उन्हें पकड़ लिया गया था। हालांकि इस मामले में हमेशा की तरह पड़ोसी देश में स्थित भारतीय उच्चायोग ने तत्परता दिखाई और श्रीलंकाई प्रशासन और नौसेना के साथ बेहतर समन्वय स्थापित करते हुए मछुआरों की वतन वापसी सुनिश्चित की।

गौरतलब है कि तटीय राज्य तमिलनाडु से रोजाना सैकड़ों मछुआरे अपनी आजीविका के लिए समुद्र में मछली पकड़ने जाते हैं। हालांकि कई बार मौसम में आए परिवर्तन के कारण वे रास्ता भटक जाते हैं और श्रीलंकाई जल क्षेत्र में प्रवेश कर जाते हैं। ऐसे में श्रीलंका की नौसेना उन्हें गिरफ्तार कर लेती है। हालांकि श्रीलंका में स्थित भारतीय उच्चायोग हमेशा ऐसे मामलों को गंभीरता से लेता है और भारतीय मछुआरों की सहायता के लिए हर संभव प्रयास करता है।

Tags: lucknow

About The Author

Latest News

रिम्स में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल और वेट लैब स्थापित रिम्स में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल और वेट लैब स्थापित
रांची। रिम्स के क्षेत्रीय नेत्र संस्थान में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल एवं वेट लैब स्थापित किया गया है। रिम्स...
मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन चार मार्च को जाएंगे गिरिडीह
मतदान के प्रति जागरूक करना हमारी नैतिक जिम्मेवारी: निदेशक
सीआईडी ने दो साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार
जबलपुर इंजीनियरिंग कालेज को "टेक्नोलॉजी हब" बनाने की दिशा में हो क्रियान्वयन: मंत्री परमार
मंत्री कृष्णा गौर ने की गुफा मंदिर में महाशिवरात्रि आयोजन की तैयारियों की समीक्षा
अपने लोगों पर गर्व करने की परंपरा करनी होगी विकसित: उच्च शिक्षा मंत्री परमार