अब टाटा कंसल्टिंग की देख-रेख में बनेगा पूर्वी चंपारण में बन रहा विराट रामायण मंदिर

पूर्वी चम्पारण। बिहार के पूर्वी चम्पारण में निर्माणाधीन विराट रामायण मंदिर अब टाटा कंसल्टिंग की देख-रेख में बनेगा। बता दें कि अयोध्या से जनकपुर तक बन रहे राम जानकी मार्ग पर स्थित 140 एकड़ भूमि पर यह विराट रामायण मंदिर का निर्माण बिहार में महावीर मंदिर न्यास की ओर से कराया जा रहा है।

महावीर मंदिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने कहा कि अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर एवं देश में कई मेट्रो प्रोजेक्ट एवं मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन का सुपरविजन करने वाली टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड के साथ महावीर मंदिर न्यास के बीच MOU साइन किया गया है। अब तक फिलहाल विराट मंदिर निर्माण की पायलिंग का काम करीब 70 फीसदी हुआ है, बाकि काम मार्च 2024 तक पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि टाटा कंसल्टिंग के करार में मैकेनिज्म, इलेक्ट्रिकल, प्लम्बिंग, लैंडस्कोप आदि के नक्शा निर्माण के साथ-साथ मंदिर परिसर की रुप रेखा तैयार करने की MOU साइन हुई है।

"2025 तक बनकर तैयार हो जाएगा विराट रामायण मंदिर"
किशोर कुणाल ने बताया कि टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड के सुपरविजन में विराट रामायण मंदिर की गुणवत्ता और समयबद्धता सुनिश्चित हो गयी है और अब विराट रामायण मंदिर 2025 तक बनकर तैयार हो जायेगा। MOU साइन करने के मौके पर टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड के सहायक महाप्रबंधक राहुल सारडा मौजूद थे।

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News