भाजपा नेता की बेटी को मिला गोल्ड मेडल, परिवार में खुशी का माहौल

चंदौली। जनपद के बबुरी निवासी व काशी हिंदू विश्वविद्यालय वाराणसी में फ्रेंच ऑनर्स बीए की छात्रा शुभांगी त्रिपाठी को दीक्षांत समारोह कार्यक्रम में टाप करने पर गोल्ड मेडल व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।बिटिया‌ को गोल्ड मेडल मिलने पर माता-पिता समेत लोगों में भी खुशी का माहौल व्याप्त है। और लोग सोशल मीडिया के जरिए बधाई दे रहे हैं।जानकारी के अनुसार बबुरी निवासी भाजपा नेता सूर्यमुनी तिवारी की बेटी शुभांगी त्रिपाठी बचपन से ही पढ़ाई करने में काफी होनहार रही है।
 
और पढ़ाई करने में काफी मेहनत करती रही।शुभांगी ने हाई स्कूल और इंटरमीडिएट की पढ़ाई बबुरी के यूनिवर्सल पब्लिक स्कूल से ही किया है। उसके बाद वह बीए(स्नातक)फ्रेंच ऑनर्स की पढ़ाई काशी हिंदू विश्वविद्यालय वाराणसी से करना शुरू किया। जहां बा में टाइप करने पर शुभांगी को दीक्षांत समारोह कार्यक्रम के दौरान हिंदी के विभाग अध्यक्ष डॉक्टर माया शंकर पाठक द्वारा गोल्ड मेडल व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया।
 
बिटिया को गोल्ड मेडल मिलने के बाद परिवार के लोगों में खुशी का माहौल रहा।सोशल मीडिया के जरिए शुभांगी को बधाई देने वालों का तांता लगा रहा।शुभांगी त्रिपाठी ने बताया कि वह इतनी मेहनत से गोल्ड मेडल जीत कर यहां तक पहुंचाने का श्रेय अपने माता-पिता और गुरुजनों को देती है। बताया कि वह आगे चलकर पढ़ाई कर भविष्य में प्रोफेसर बनेगी। लेकिन अगर मौका मिला तो भारत का राजदूत बनकर देश की सेवा करना चाहती है।
 
 
Tags: Chandauli

About The Author

Related Posts

Latest News

महापुरूषों की प्रतिमाओं, पार्को के लिये बजट निर्धारण की मांग, सौंपा ज्ञापन महापुरूषों की प्रतिमाओं, पार्को के लिये बजट निर्धारण की मांग, सौंपा ज्ञापन
बस्ती - आल इण्डिया रियूनियन ट्रस्ट के अध्यक्ष एडवोकेट विक्रम गौतम ने मंगलवार को ट्रस्ट पदाधिकारियों के साथ जिलाधिकारी के...
आईआईटी में चयन होने पर स्नेहिल को एडी बेसिक, बीएसए ने किया सम्मानित
निःशुक्ल विद्युतचालित चाक मशीन के लिए करे आवेदन - पी.एन.सिंह
मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना का लाभ लेने के लिए करे आवेदन - पी.एन.सिंह
डाक विभाग के मण्डलीय मेले में दिया कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी
गला काटकर हत्या मामले में दोषियों के गिरफ्तारी की मांग,आई.जी. तक पहुंचा मामला
पतंजलि का योग प्रोटोकाल 19 जून से किसान डिग्री कॉलेज बस्ती में - ओम प्रकाश आर्य