नवादा के रजौली में चल रहा अवैध कोयले का कारोबार अधिकारी हो रहे मालामाल

नवादा के रजौली में चल रहा अवैध कोयले का कारोबार अधिकारी हो रहे मालामाल

नवादा। जिले में रजौली थाना क्षेत्र के पटना-रांची रोड एनएच 20 के किनारे पर कोयले का व्यापार चला रहे दर्जनों कोयला माफिया झारखंड की ओर से आने वाली ट्रक चालकों के मिली भगत से अवैध रूप से कोयले की खरीद-बिक्री का कारोबार कर रहे हैं।

दूसरी ओर मूक दर्शक बने प्रशासनिक अधिकारी तथा पुलिस इन अवैध कारोबार से मलोमाल हो रहे हैं। जबकि तत्कालीन अनुमंडल पदाधिकारी चंद्रशेखर आजाद ने कोयला कारोबारियों पर शिकंजा करते हुए लाखों रुपये का जुर्माना वसूल कर सरकारी खाते में जमाया कराया था। इसके बाद इलाके में धंधा बंद हो गया था।

दर्जनों जगहों पर रजौली जांच चौकी से अंधरवारी तक इस अवैध कोयले की डंपिंग कर व्यापार को धड़ल्ले से फैलाने में लगे हुए हैं।लोग पुर्ण रूप से कम लागत से अधिक मुनाफा कमाने के चक्कर में सरकारी राजस्व की चोरी के साथ इंट उद्योग संचालकों को भी चुना लगाने में लगे हुए हैं।लेकिन स्थानीय पुलिस के साथ अनुमंडल प्रशासन रजौली सभी अवैध कार्यों को अपनी आंखों के सामने होता देख भी चुप्पी साधे हुए है।जिसके कारण उनकी मेल से सारा खेल होता दिखाई दे रहा है।

इसकी शिकायत संजय राजवंशी,मनोज कुमार,दिनेश कुमार,राहुल कुमार आदि लोगों ने जिलाधिकारी से की है एवं इस अवैध धंधे को रोक लगाने की मांग की है।

बताते चलें कि बीते छह माह से कोयले को सोना बनाने का अवैध धंधा पुलिस की मदद से फलने-फूलने लगा था।जिसकी शिकायत लोगों ने वर्ष 2021 में तात्कालिक अनुमंडल पदाधिकारी चंद्रशेखर आजाद से की थी।

शिकायत के आलोक में स्वयं कोयले डीपो पर जाकर सच्चाई की तहकीकात किये थे। जिसमें पता चला कि ये लोग इस अवैध कोयला डंपिंग कर व्यापार को धड़ल्ले से फैलाने में लगे हुए हैं।फलस्वरूप उन्होंने खनन विभाग व अंचलाधिकारी रजौली को जांच का जिम्मा सौंपा।जिसके एवज में नवादा के तात्कालिक सहायक निदेशक खनन नम विजय कुमार सिंह ने अवैध भंडारण एवं बिहार खनिज नियमावली 2019 के नियम 39 एवं 56 का उल्लंघन करने के आलोक में डिपो संचालकों पर जुर्माना लगाकर लाखों रूपये की राशि वसूल कर सरकार के राजस्व को बढ़ाने का काम किया गया थ।इस कार्रवाई के बाद कोयले के अवैध भंडारण व चोरी पर लगाम लग गया था।

लेकिन दो वर्ष बाद पुनः कोयले के धंधे में संलिप्त लोगों के द्वारा डीपो का संचालन वगैर किसी कागजात के प्रशानिक मेल से धड़ल्ले से किया जा रहा है।लोगों ने कहा कि इस अवैध कोयले के धंधे को सड़क किनारे करने से बाइक दुर्घटना में इजाफा हो रहा है।क्योंकि कोलये की डस्ट बारिक होती जो हवा के झोंके से बाइक सवारों के आंखों प्रवेश कर जाती है।जिससे बाइक सवार दुर्घटना कर बैठते हैं।सिर्फ इतना हीं नहीं वगैर किसी भी वैध कागजात एवं वगैर अनुज्ञप्ति के इस धंधे को दर्जनों जगहों पर किया जा रहा है।जिससे प्रत्येक दिन लाखों रूपये की राजस्व की चोरी इनके द्वारा किया जा रहा है।

क्या कहते हैं पदाधिकारी-
इस बाबत पर जिला खनन पदाधिकारी मुकेश कुमार ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है।मामले की जांच की जा रही है।कागजातों की जांच के बाद जुर्माना राशि वसूल किया जाएगा।

वहीं अनुमण्डल पदाधिकारी आदित्य कुमार पीयूष कहते हैं कि अभी तक किसी प्रकार का लिखित आवेदन प्राप्त नहीं हुआ है।आवेदन प्राप्त होने के बाद उचित कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

Tags:

About The Author

Latest News

चतुर्थ केदार रुद्रनाथ यात्रा व्यवस्थाओं को लेकर डीएम ने ली बैठक चतुर्थ केदार रुद्रनाथ यात्रा व्यवस्थाओं को लेकर डीएम ने ली बैठक
गोपेश्वर। चतुर्थ केदार श्री रुद्रनाथ धाम की यात्रा व्यवस्थाओं को लेकर गुरुवार को जिलाधिकारी चमोली हिमांशु खुराना ने मंदिर के...
17 मार्च को गोरखा सम्मेलन करेगी भाजपा, विस्तार-विकास और उत्थान पर होगी चर्चा
पुलिस ने दबोचे दो वाहन चोर, स्कूटी बरामद
आवास मंत्री ने जिला प्रशासन व नगर निकायों के प्रतिनिधियों के साथ की वर्चुअल बैठक
जल संचय, संरक्षण, संवर्धन व सफाई अभियान है नमामि गंगे : श्रीकृष्ण दीक्षित
मीरजापुर में भारी वाहन प्रवेश पर लगी रोक
मासूम बालिका के साथ अश्लील हरकत का प्रयास करने वाले आरोपित का मकान तोड़ा