खेत, बगीचा, तालाब से लेकर रेलवे लाइन व ढाबों तक दबिश

बोले डीईओ, अवैध शराब से जुड़ी गतिविधियों पर अंकुश लगाने को हमारी टीमें सतर्क

खेत, बगीचा, तालाब से लेकर रेलवे लाइन व ढाबों तक दबिश

  • चार फेज का चुनाव बीता, अभी तक प्रकाश में नहीं आया कोई बड़ा मामला, रणनीति सफल
लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2024 के चार चरणों के चुनाव बीते चुके हैं और अब तीन चरणों के चुनाव होने हैं। ऐसे में हर बार देखा जाता है कि अवैध शराब से विभिन्न प्रकार की गतिविधियां प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर प्रकाश में आती रहीं, मगर इस बार अभी तक पूरे चुनावी प्रक्रिया के दौरान कोई भी बड़ा ऐसा मामला देखने को नहीं मिला। इसी क्रम में राजधानी लखनऊ जनपद एरिया की बात करें तो यहां पर स्थानीय आबकारी टीमें, लोकल पुलिस के साथ मिलकर और अपने सटीक मुखबिरों के नेटवर्क के जरिये लगातार अवैध मदिरा के निर्माण, बिक्री और तस्करी पर प्रभावी अंकुश लगाने को लगातार दबिश व छापेमारी कर रही हैं।
 
12
 
इतना ही नहीं विभिन्न हाईवे रूटों पर स्थित ढाबों और ऐसे कुछ संदिग्ध स्थलों पर गहन जांच-पड़ताल की जा रही है। इस बाबत तरूणमित्र टीम को जिला आबकारी अधिकारी राकेश कुमार सिंह ने बताया कि जनपद में चलाये जा रहे प्रवर्तन अभियान के अंतर्गत बुधवार को आबकारी निरीक्षक क्षेत्र 11 सुनीता ओझा, सेक्टर 12 कृष्ण कुमार सिंह, सेक्टर 7 कौशलेंद्र रावत द्वारा टीम के साथ थाना बंथरा अंतर्गत ग्राम रतौली और दरियापुर तथा थाना कृष्णानगर में कनौसी के संदिग्ध घरों ,खेतों, बगीचों, तालाबों एवं रेलवे लाइन के किनारे दबिश दी गई और लगभग 90 लीटर अवैध कच्ची शराब और 100 किलो लहन बरामद हुआ जिसे मौक पर ही नष्ट करा दिया गया।
 
वहीं प्रवर्तन टीम में प्रधान आबकारी सिपाही अनिल, जितेन्द्र, अखिलेश, यतीन्द्र, कुंज बिहारी, उमेश, और मेहताब आदि मौजूद रहे। वहीं दूसरी तरफ प्रवर्तन इकाई ने देर रात ढाबों और रेस्टोरेंट को भी चेक किया। डीईओ लखनऊ ने बताया कि मंगलवार को टीम ने रायबरेली रोड स्थित ढाबों की चेकिंग की। मोहनलालगंज और रायबरेली रोड पर अभियान चलाकर चेकिंग की गयी। इसके अलावा जनपद की शराब दुकानों और रेस्टोरेंटों में चल रहे बार का भी निरीक्षण किया गया।
Tags: lucknow

About The Author

Latest News