स्वास्थ्य विभाग द्वारा जानकारी दी गई कि 4 दिसंबर से 16 दिसंबर तक चलने वाला पुरुष नसबंदी पखवाड़ा अभियान 

सीतामढ़ी ।जिले में *4 दिसंबर से 16 दिसंबर 2023* तक पुरुष नसबंदी पखवाड़ा चलाया जाएगा जिसमें जिला अंतर्गत सभी 17 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और सदर अस्पताल सीतामढ़ी में पुरुष नसबंदी ऑपरेशन किया जाएगा। यह बात *सिविल सर्जन डॉक्टर सुरेश चंद्र लाल और अपर मुक्त चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर जेड जावेद ने कहीं।* सिविल सर्जन ने बताया कि *परिवार नियोजन कार्यक्रम में महिला बंध्याकरण कराने की भागीदारी सबसे अधिक होती है जबकि पुरुषों की भागीदारी इस कार्यक्रम के प्रति कम है* कहा कि *जागरूकता के अभाव में तथा तरह-तरह की भ्रांतियों के कारण पुरुषों की भागीदारी बहुत ही कम दिखती है जिसमें सभी को पहल करने की जरूरत है। बताया कि पुरुष नसबंदी पखवाड़ा में पीरामल फाउंडेशन संस्था भी आवश्यक सहयोग कर रहा है क्योंकि यह जिला आकांक्षी जिला भी है और आकांक्षी जिला होने के कारण नीति आयोग द्वारा तय मापदंडो के आलोक में समय-समय पर समीक्षा की जाती है।*
 
 स्वास्थ्य विभाग द्वारा जानकारी दी गई कि 4 दिसंबर से 16 दिसंबर तक चलने वाला पुरुष नसबंदी पखवाड़ा अभियान के लिए सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई है जो कि निम्न है:- 
 
🔹सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं सदर अस्पताल में स्वास्थ्य मेला लगाया जाएगा ताकि अधिक से अधिक लोगों को जागरूक किया जा सके।
 
🔹 प्रखंड स्तर पर कन्वर्जेंस की बैठक भी की जा रही है ताकि स्वास्थ्य विभाग के अलावा अन्य विभागों की भागीदारी भी बढ़ाई जा सके।
 
🔹 प्रचार प्रसार के लिए बैनर -पोस्टर जगह-जगह लगाए जा रहे हैं ताकि समुदाय को जागरूक किया जा सके।
 
🔹अभी 27 नवंबर से दंपति संपर्क अभियान चलाया जा रहा है जिसमें आशा घर-घर जाकर पुरुष नसबंदी कराने हेतु लोगों को प्रेरित कर रही है।
 
🔹जांच की सुविधा(पैथोलॉजी) एवं ऑपरेशन से संबंधित सभी आवश्यक तैयारियां कर ली गई है।
 
🔹परिवार नियोजन से संबंधित अस्थाई विधि की सामग्री की व्यवस्था सभी पीएचसी में कर ली गई है। 
 
🔹परिवार नियोजन में कार्य करने वाले एनजीओ में जननी, एफआरएचएस, PSI एवं लाइफ जंक्शन को भी आवश्यक निर्देश दिया गया है एवं सभी संस्थाओं का लक्ष्य भी निर्धारित किया गया है।
 
🔹 पुरुष नसबंदी पखवाड़ा हेतु सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ,प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक एवं BCM से समीक्षात्मक बैठक कर ली गई है और इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए आवश्यक निर्देश भी दिया जा चुका है।
 
 सिविल सर्जन एवं अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी ने ग्रामीणों से अपील किया है कि *पुरुष वर्ग जिनको बच्चों की अब जरूरत नहीं है वे ज्यादा से ज्यादा अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। कहा कि नसबंदी हेतु मन में कोई भ्रम नहीं पालें और न ही किसी भी प्रकार की भ्रांतियां रखें।यह ऑपरेशन बिल्कुल सुरक्षित है इसमें डरने एवं घबराने की कोई जरूरत नहीं है।*
 
मौके पर डीपीआरओ कमल सिंह,डीपीएम A रंजन ,पिरामल के DL सोमनाथ ओझा ,रोहित कुमार, अभिषेक एवं शरीब, डीपीसी दिनेश कुमार, एम एंड ई के संतोष कुमार तथा अन्य उपस्थित थे।
 
 
 
Tags:

About The Author

Latest News

रिम्स में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल और वेट लैब स्थापित रिम्स में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल और वेट लैब स्थापित
रांची। रिम्स के क्षेत्रीय नेत्र संस्थान में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल एवं वेट लैब स्थापित किया गया है। रिम्स...
मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन चार मार्च को जाएंगे गिरिडीह
मतदान के प्रति जागरूक करना हमारी नैतिक जिम्मेवारी: निदेशक
सीआईडी ने दो साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार
जबलपुर इंजीनियरिंग कालेज को "टेक्नोलॉजी हब" बनाने की दिशा में हो क्रियान्वयन: मंत्री परमार
मंत्री कृष्णा गौर ने की गुफा मंदिर में महाशिवरात्रि आयोजन की तैयारियों की समीक्षा
अपने लोगों पर गर्व करने की परंपरा करनी होगी विकसित: उच्च शिक्षा मंत्री परमार