यूपी के प्रति धारणा बदलने को लेने पड़े कठोर निर्णय: मुख्यमंत्री*:

गीडा के 34वें स्थापना दिवस समारोह में बोले सीएम योगी आदित्यनाथ*

यूपी के प्रति धारणा बदलने को लेने पड़े कठोर निर्णय: मुख्यमंत्री*:

800 करोड़ रुपये की निजी निवेश परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास*,,150 करोड़ के अवस्थापना विकास कार्यों का भी लोकार्पण व शिलान्यास,,कालेसर परियोजना के प्रथम चरण और गीडा सेवा पोर्टल की लांचिंग*,स्किल डेवलपमेंट सेंटर के लिए नाइलिट तथा प्लास्टिक पार्क में कच्चा माल आपूर्ति के लिए गेल से एमओयू का हस्तांतरण,,चार दिवसीय गोरखपुर ट्रेड शो का  उद्घाटन*

×गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश के प्रति देश और दुनिया के लोगों में घर कर गई नकारात्मक धारणा को बदलने के लिए कठोर निर्णय लेने पड़े। गंभीर प्रयास के साथ कई रिफॉर्म करने पड़े। बिना थके और बिना डिगे किए गए कार्यों से यूपी के प्रति धारणा तो बदली ही, आज देश-दुनिया का हर बड़ा उद्यमी उत्तर प्रदेश में निवेश करने का आकांक्षी है। 

सीएम योगी गुरुवार को वर्तमान प्रगति को संजोने और सुनहरे भविष्य की संभावनाओं को आकार देने के उद्देश्य से आयोजित गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (गीडा) के 34वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे। भव्य और विविधतापूर्ण समारोह के दौरान मुख्यमंत्री ने गीडा में निजी क्षेत्र की 800 करोड़ रुपये की निवेश परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास किया। 500 करोड़ रुपये के निवेश को धरातल पर उतारने के लिए नए भूखंडों का आवंटन पत्र सौंपा। 150 करोड़ रुपये के अवस्थापना विकास कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास किया। नए व्यावसायिक क्षेत्र के रूप में विकसित होने वाली कालेसर परियोजना के पहले चरण और ऑनलाइन सेवाओं वाले गीडा सेवा पोर्टल को लांच किया। गोरखपुर में पहली बार आयोजित चार दिवसीय गोरखपुर ट्रेड शो का उद्घाटन किया और देश तथा इस अंचल के प्रमुख उद्यमियों के साथ बैठक कर लाभकारी निवेश के मंत्र दिए। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के समक्ष गीडा में स्किल डेवलपमेंट सेंटर खोलने के लिए नाइलिट से तथा प्लास्टिक पार्क में यूनिट्स को कच्चा माल उपलब्ध कराने के लिए गैस ऑथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (गेल) से एमओयू का आदान-प्रदान भी हुआ। 

इस अवसर पर सीएम योगी ने कहा कि सरकार द्वारा किए गए कार्यों से प्रदेश की छवि अच्छी हुई तो फरवरी में हुए ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में देश-दुनिया से हर बड़ा उद्यमी पहुंचा। प्रदेश में 40 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव को लेकर एमओयू हुए। ये एमओयू धरातल पर उतरेंगे तो 1.10 करोड़ लोगों को नौकरी और रोजगार की गारंटी है, इसलिए ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में मिले प्रस्तावों पर तेजी से काम किया जा रहा है। 

*10 वर्ष पहले गोरखपुर में निवेश था सपना*
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 10 वर्ष पहले गोरखपुर में निवेश होना एक सपना था। यहां गैंगवार, अराजकता के चलते लोग भयभीत रहते थे। यहां उद्यमी की पूंजी के साथ उसके जान पर भी खतरा रहता था। गोरखपुर के नाम से ही सिर्फ प्रदेश ही नहीं, देश-दुनिया के लोग घबराते थे। गोरखपुर गैंगवार और अराजकता से उबरा है तो आज निवेश, रोजगार और विकास की नई ऊंचाइयों को छू रहा है।

*पांच करोड़ की आबादी के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार का केंद्र है गोरखपुर*
मुख्यमंत्री ने खाद कारखाना, एम्स, रामगढ़ताल के कायाकल्प, चिड़ियाघर, पिपराइच चीनी मिल जैसी महत्वपूर्ण उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए कहा कि गोरखपुर तेजी से बदल रहा है। सरकार ने यहां के माहौल को बदला है। गोरखपुर सिर्फ अपने भौगोलिक क्षेत्र तक सीमित नहीं है बल्कि यह पूर्वी उत्तर प्रदेश, पश्चिमी बिहार और नेपाल की तराई तक पांच करोड़ की आबादी के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार का बड़ा केंद्र है। गोरखपुर में कनेक्टिविटी शानदार हो गई है। गोरखपुर से लखनऊ, वाराणसी और नेपाल तक फोर-सिक्स लेन रोड कनेक्टिविटी है तो यहां से बड़े शहरों के लिए14 फ्लाइट की भी सुविधा है। बेहतरीन रेल कनेक्टिविटी में वंदे भारत एक्सप्रेस भी योगदान दे रही है। उन्होंने कहा सुरक्षित माहौल और आवागमन आसान होने से निवेश में वृद्धि होती है। युवाओं को नवाचार के क्षेत्र में आगे बढ़ने में मदद मिलती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरखपुर ने यह दिखा दिया है कि नए भारत के नए उत्तर प्रदेश में नए गोरखपुर की भूमिका किसी से कम नहीं है। 

*प्रगति यात्रा के निर्णायक मोड़ पर है गीडा*
34वें स्थापना दिवस पर गीडा के सभी उद्यमियों, अधिकारियों, कर्मचारियों, कारीगरों को शुभकामनाएं देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गीडा आज कुछ देने की स्थिति में है। विगत छह-सात साल की यात्रा शानदार रही है और आज गीडा निर्णायक मोड़ पर है। उन्होंने इंडिया ग्लाइकोल्स लिमिटेड, गैलेंट समूह, अंकुर उद्योग, वरुण ब्रेवरेज, केयान डिस्टलरी, ज्ञान डेयरी, तत्वा प्लास्टिक आदि उद्योगों का उल्लेख करते हुए कहा कि गीडा में व्यापक पैमाने पर निवेश हुआ है। इस निवेश से बड़े पैमाने पर रोजगार सृजित हो रहे हैं। अब यहां के युवाओं को नौकरी या रोजगार के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा। बल्कि बाहर के लोगों को काम की तलाश में यहां आना पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि थोड़े से प्रयास और सकारात्मक दृष्टिकोण से कुछ ही समय मे गीडा में 12 हजार करोड़ रुपये का निवेश हुआ है। 

*अब सबसे समृद्ध क्षेत्र बनेगा गोरखपुर का दक्षिणांचल*
सीएम योगी ने गीडा के विकास की चर्चा करते हुए कहा कि गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे के पास और धुरियापार में नया औद्योगिक विकास होगा। इस निमित्त 800 एकड़ लैंड बैंक के लिए गीडा को पैसा उपलब्ध करा दिया गया है। धुरियापार और जिस दक्षिणांचल को सबसे कमजोर क्षेत्र माना जाता था, अब वह सबसे समृद्ध क्षेत्र बन जाएगा। यह क्षेत्र विकसित होकर नए रोजगार और लोगों की आत्मनिर्भरता का माध्यम बनेगा। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने सभी लोगों से विकास प्रक्रिया में अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करने का आह्वान किया। 

*जीआईएस की तरह जीबीसी में भी यूपी रचेगा इतिहास : राकेश सचान*
गीडा के स्थापना दिवस समारोह में प्रदेश के एमएसएमई, खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री राकेश सचान ने कहा कि यूपी में 96 लाख एमएसएमई इकाइयां हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मार्गदर्शन में यह एमएसएमई सेक्टर लगातार विकास पथ पर अग्रसर होकर आर्थिक तरक्की और रोजगार में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। सीएम योगी के नेतृत्व में आर्थिक विकास को और तेज करने के लिए 25 सेक्टर के लिए सेक्टोरल पॉलिसी बनाई गई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी के ही विजन से नोएडा में प्रथम यूपी इंटरनेशनल ट्रेड फेयर का सफल आयोजन हुआ जिसमें चार लाख लोग पहुंचे। श्री सचान ने कहा कि मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट (जीआईएस) की ही तरह ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी (जीबीसी) में भी उत्तर प्रदेश इतिहास रचेगा। 

*सीएम योगी के मार्गदर्शन में हुआ गीडा का अभूतपूर्व विकास : रविकिशन*
इस अवसर पर सांसद रविकिशन शुक्ल ने कहा कि पीएम मोदी और सीएम योगी निरंतर विकास के बारे में ही सोचते हैं। दोनों नेतृत्वकर्ता निस्वार्थ संत हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मार्गदर्शन में गीडा का अभूतपूर्व विकास हुआ है। सुरक्षा, सुविधा व सहूलियत मिलने से हर बड़ा उद्यमी गीडा में निवेश कर अपना उद्यम शुरू करना चाहता है। 

*सीएम योगी के नेतृत्व में उद्योग, कृषि एवं सेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति : मनोज सिंह*
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त मनोज कुमार सिंह ने कहा कि सीएम योगी के नेतृत्व में पिछले कुछ वर्षों में उद्योग, कृषि एवं सेवा के क्षेत्र प्रदेश में उल्लेखनीय प्रगति हुई है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश की अर्थव्यवस्था साढ़े बाइस लाख करोड़ की है जिसे मुख्यमंत्री ने वन ट्रिलियन डॉलर पर ले जाना लक्षित किया है। 
इस अवसर पर महापौर डॉ. मंगलेश श्रीवास्तव, विधायक विपिन सिंह, प्रदीप शुक्ल, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष सहजानंद राय, जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, चैंबर ऑफ इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष आरएन सिंह समेत बड़ी संख्या में उद्यमी व आमजन उपस्थित रहे।

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News

अमेरिका के न्यूयॉर्क की एक बिल्डिंग में लगी भीषण आग अमेरिका के न्यूयॉर्क की एक बिल्डिंग में लगी भीषण आग
न्यूयॉर्क: अमेरिका के न्यूयॉर्क में शुक्रवार को एक दुखद हादसा हुआ। न्यूयॉर्क के हार्लेन में शुक्रवार को एक बिल्डिंग में...
सरकार की छवि धूमिल होते देख करणी सैनिकों ने एआरटीओ को दिया अल्टीमेटम
इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को लेकर राज ठाकरे ने कहा ”ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से वोटिंग होनी चाहिए
UP: सिपाही भर्ती पेपर लीक: जाने कहां से हुई चूक
टेक्नॉलाजी युग के साथ हमको आगे बढ़ना ही होगा : राज्यपाल दत्तात्रेय
वित्त मंत्री सीतारमण ने बिट्स पिलानी के पांचवें परिसर का उद्घाटन किया
लोकसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी मुख्यालय में पांच राज्यों की कोर ग्रुप की बैठक बुलाई