प्रशिक्षण प्राप्त करते एस०एस०एफ० के जवान

एस०एस०एफ० के जवानों को आधुनिक हथियारों जैसे एक-47 एमपी-5 गन तथा ग्लाक पिस्टल से दिया जा रहा है प्रशिक्ष

 प्रशिक्षण प्राप्त करते एस०एस०एफ० के जवान

गोंडा । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत यू०पी० एस०एस०एफ० का गठन हुआ था। उत्तर प्रदेश के प्रमुख स्थान जैसे लोकभवन, विधानभवन, एयरपोर्ट, न्यायालयों, मेट्रो, व बड़े व्यवसाइक प्रतिष्ठानों की सुरक्षा के दृष्टिगत श्री एल वी एंटनी देव कुमार अपर पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल के निर्देशन में उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल के 199 जवान को वर्तमान में 30वी वाहिनी पीएसी गोंडा में आधुनिक हथियारों का विशेष प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे है।
 
इस 3 माह के प्रशिक्षण के दौरान एटीएस, सुरक्षा शाखा, तथा एसडीआरएफ द्वारा 7-7 दिवस का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण प्राप्त कर लेने के पश्चात जवानों को कानपुर मेट्रो, लखनऊ मेट्रो, नोएडा मेट्रो, राम जन्म भूमि, कुशीनगर एयरपोर्ट, गोरखपुर एयरपोर्ट, प्रयागराज एयरपोर्ट, हिंडन एयरपोर्ट, बरेली एयरपोर्ट, लोकभवन तथा आर०आर०टी०एस० (रैपिड रेल) की सुरक्षा में तैनाती कर दी जाएगी। यू०पी० एस०एस०एफ० केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की तर्ज पर ही काम करती है।
 
 
केंद्रीय सुरक्षा बल की तरह ही एसएसएफ को भी विशेष शक्तियां दी गई हैं। गजट में प्रकाशित अधिनियम की धारा 10 के अनुसार एसएसफ के सदस्य बिना किसी मजिस्ट्रेट की अनुमति तथा वारंट के किसी को गिरफ्तार कर सकते है। बल के सदस्यों को विशेष अधिकार देने के लिए अलग से नियमावली बनायी गयी है। एसएसएफ के जवान किसी अपराधी के निकल भागने अथवा अपराध के साक्ष्य छिपाने की स्थिति में बिना वारंट उसकी तलाशी भी ले सकते है। 
 
Tags: GONDA

About The Author