नागरिकों की प्रतिष्ठा, गरिमा और एकता को सुदृढ़ करता है संविधान

नागरिकों की प्रतिष्ठा, गरिमा और एकता को सुदृढ़ करता है संविधान

कोरबा। कमला नेहरू महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के द्वारा रविवार को संविधान दिवस पर प्रस्तावना का वाचन, संविधान से संबंधित प्रश्नोत्तरी तथा व्याख्यान का कार्यक्रम आयोजित किया गया। युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार ने संविधान दिवस पर सभी रासेयो इकाइयों को भारत लोकतंत्र की जननी विषय पर व्याख्यान, सेमिनार, प्रश्नोत्तरी आदि कार्यक्रम आयोजित कर युवाओं के माध्यम से समाज को जागरूक करने का निर्देश दिया था। इसी कड़ी में संविधान दिवस पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. प्रशांत बोपापुरकर ने प्राध्यापकों, कर्मचारी तथा राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों को संविधान की प्रस्तावना का वाचन कराया गया।

प्राचार्य डॉ. प्रशांत बोपापुरकर ने संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय संविधान समानता, समरसता, स्वतंत्रता, स्वीकार्यता तथा समावेशिता के महत्व को उजागर करते हुए लोकतंत्र को जन-जन का हितैषी बनाता है यह नागरिकों में प्रतिष्ठा, गरिमा एकता को सुदृढ़ करता है। संस्थाएं तभी विकसित और आत्मनिर्भर होगी जब उससे जुड़े सभी व्यक्ति लोकतांत्रिक मूल्यों का आदर करते हुए अपने दायित्व और कर्तव्य के प्रति दृढ़ आस्था रखेंगे। रासेयो जिला संगठक वाय के तिवारी ने संविधान निर्माण से जुड़ी घटनाओं का जिक्र करते हुए बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर, पंडित जवाहरलाल नेहरू, डॉ राजेंद्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मैडम भीकाजी कामा जैसे संविधान निर्माण समिति के सदस्यों के योगदान और संविधान के मूल प्रति के लेखक प्रेम बिहारी नारायण रायजादा के महत्वपूर्ण योगदान की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि संविधान की गरिमा को सामने रखा। रासेयो कार्यक्रम अधिकारी जीएम उपाध्याय ने भारतीय संविधान से जुड़ी प्रश्नोत्तरी का कार्यक्रम आयोजित किया। कार्यक्रम में भूगोल विभाग के अध्यक्ष अजय कुमार मिश्रा, सहायक प्राध्यापक टी व्ही नरसिम्हम, बृजेश तिवारी, डॉ सुनील तिवारी, राकेश गौतम डॉ कुणाल दासगुप्ता कार्यक्रम अधिकारी जी एम उपाध्याय, वरिष्ठ स्वयंसेवक सन्नीराव जगताप, मनीष चंद्र, चमन पटेल, देवांश कुमार तिवारी, मानसी साहू, अंजली यादव, देवेंद्र जायसवाल, धारणा केंवट आदि उपस्थित थे।

गोदग्राम भादा में आयोजित हुआ संविधान दिवस
रासेयो जिला संगठक वाय के तिवारी के नेतृत्व में मनीष चंद्रा, सन्नी राव जगताप आदि स्वयंसेवकों ने अमृत वाटिका भादा में पौधों की सुरक्षा तथा जल से सींचने के लिए श्रमदान के उपरांत ग्रामवासियों को संविधान दिवस की जानकारी प्रदान करते हुए प्रस्तावना का वाचन कराया तथा भारतीय संविधान के निर्माण से जुड़ी महत्वपूर्ण घटनाओं की जानकारी युवाओं को प्रदान की। कार्यक्रम में ग्राम के वरिष्ठ नागरिक बाल्मीकि यादव, बलराम यादव, सत्यनारायण यादव, पुरुषोत्तम यादव, आनंद दास स्वयंसेवक किशन यादव, धीरज यादव, आशीष यादव सुरेश दास, रीतिक यादव, आदि उपस्थित थे।

Tags:

About The Author

Latest News