ढाई लाख चोरी के विवाद में बच्चे का अपहरण कर हत्या

ढाई लाख चोरी के विवाद में बच्चे का अपहरण कर हत्या

पलामू। लामू से सटे गढ़वा जिले के रंका थाना क्षेत्र के सेरेनदाग में ढाई लाख रुपये चोरी के विवाद में बच्चे का अपहरण कर हत्या कर देने का मामला सामने आया है। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए हत्या के सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। गढ़वा के एसपी दीपक पांडे ने गुरुवार को इस मामले का खुलासा किया उन्होंने बताया कि कुछ दिन पूर्व सकेंद्र यादव नामक व्यक्ति के घर से ढाई लाख रुपए चोरी हो गए थे। चोरी का आरोप गांव की ही रानी देवी और सकेंद्र की भतीजी पर लगा था। मामला सामने आने पर सकेंद्र की भतीजी ने चोरी के 51 हजार वापस कर दिए। बाकी पैसे वापस देने के लिए सकेंद्र और उसका परिवार लगातार रानी देवी पर दबाव बना रहा था। पैसे वापस नहीं मिलने पर सकेंद्र और उसके परिवार के अन्य सदस्यों ने रानी देवी को सबक सिखाने की योजना बनाई और बुधवार को उसके चार वर्षीय बेटे का अपहरण कर लिया और उसकी हत्या कर शव को कुएं में फेंक दिया।

बच्चे के गायब होने पर रानी देवी ने बुधवार को रंका थाना में सकेंद्र समेत अन्य के खिलाफ प्राथमिक की दर्ज कराई थी। अनुसंधान के क्रम में गुरुवार को गांव के ही कुएं से रानी के चार वर्षीय बेटे का शव बरामद किया गया। इस मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने सकेंद्र यादव, उसकी पत्नी बीमा कुमारी को गिरफ्तार करते हुए एक नाबालिक को भी निरुद्ध किया। गिरफ्तार आरोपितों ने पुलिस को बताया की रानी को सबक सिखाने के लिए सभी ने पत्थरों से कूच कर बच्चे की हत्या कर दी और उसकी डेड बॉडी को कुएं में फेंक दिया था। एसपी ने बताया कि सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Tags:

About The Author

Latest News

डॉ. शंकर लाल शर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट ने आर्थिक मदद कर दिखाई दरिया दिली डॉ. शंकर लाल शर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट ने आर्थिक मदद कर दिखाई दरिया दिली
अलीगढ़। डॉ. शंकर लाल शर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट रजिस्टर्ड कार्यक्षेत्र संपूर्ण भारत अलीगढ़ के द्वारा मृतक के परिवार की आर्थिक  मदद...
बलरामपुर अस्पताल में मृत्यु फार्मासिस्ट के लिए हवन हुआ
आतंकवाद-निरोध पर भारत-ब्रिटेन की बैठक, चुनौतियों से निपटने के लिए सहयोग बढ़ाने पर सहमति
राष्ट्रीय आय में मजदूरों को मिले हिस्सा - दिनकर 
स्कूलों को बम से उड़ाने के मामले में ‘गेमिंग एप’ का संदिग्ध रोल
भगवान बुद्ध के पथ पर चलने को कहा
लखनऊ विवि ने रैंकिंग में 19वां स्थान प्राप्त किया