अभियान चलाकर सर्वप्रथम नंदियों को नंदी गौशालाओं में किया जाए संरक्षित : डीएम

पंचायत सहायक ग्रामीणों को देंगे दिशा एप की जानकारी, सरकारी योजनाओं को जानना होगा आसान

अभियान चलाकर सर्वप्रथम नंदियों को नंदी गौशालाओं में किया जाए संरक्षित : डीएम

बरेली। जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार की अध्यक्षता में गुरुवार को विद्यालयों में स्थापित स्मार्ट क्लास के सफल क्रियान्वयन एवं दिशा बरेली की ‘एप‘ तथा निराश्रित गोवंश के संरक्षण के संबंध में बैठक विकास भवन सभागार में सम्पन्न हुई। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि जिन विद्यालयों में स्मार्ट क्लास हेतु टीवी स्थापित नहीं हैं वहां निर्धारित फण्ड से क्रय कर टीवी स्थापित कराये जायें। यह ध्यान रखा जाये कि टीवी मुवेबल स्टैण्ड पर स्थापित हों, जिससे एक क्लास से दूसरी क्लास में सहजता से ले जाया जा सके और विद्यालय के समस्त बच्चों को स्मार्ट क्लास का लाभ मिल सके। उन्होंने निर्देश दिये कि जिन विद्यालयों के टीवी वर्तमान में खराब हो उन्हें अगले तीन दिन में ठीक कराया जाये। जिलाधिकारी ने  निर्देश दिये कि विद्यालय के बच्चों को स्मार्ट क्लास के माध्यम से अच्छी शिक्षा उपलब्ध करायी जाये इसके अतिरिक्त जिला कार्यक्रम अधिकारी से कहा कि विद्यालय प्रांगण में स्थापित आंगनबाड़ी केन्द्रों में उक्त टीवी पर ही हेल्थ और न्यूट्रीशियन व पर्सनल हाईजिन सम्बन्धी वीडियो आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों तथा धात्री महिलाओं को अनिवार्य रुप से दिखाया जाये और उन्हें स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया जाये।
 
जिलाधिकारी ने समस्त एडीओ पंचायत को निर्देश दिये कि विद्यालयों की टीवी पर ग्रामीणों को सरकार की विभिन्न योजनाओं, उनकी पात्रता, व्यक्तिगत स्वच्छता, अपने आस-पास की साफ सफाई, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, महापुरुषों तथा समय-समय पर माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा विशेष अवसरों जैसे स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस आदि पर दिये जाने वाले उद्बबोधनों को दिखाया जाये, जिससे लोगों में सकारात्मक आये और वह उनसे प्रेरणा ले सकें। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि एक सप्ताह बाद सभी से प्रमाण पत्र लिया जायेगा कि यह सभी गतिविधियां गांव में आरम्भ हुई या नहीं। जिलाधिकारी ने दिशा एप का लाभ आमजन को देने के लिये जिला सूचना विज्ञान अधिकारी को  निर्देश दिये कि वे ब्लाक के कम्प्यूटर आपरेटरों/पंचायत सहायकों को प्रशिक्षण दें, जिसमें उन्हें स्क्रीन शेयर के माध्यम से एप का वीडियो दिखाना बताएं, जिसके बाद कम्प्यूटर ऑपरेटर/पंचायत सहायक द्वारा ग्रामीणों को यह एप दिखाकर बताया जाये इसमें सरकार की योजनाएं व पात्रताओं का विस्तृत विवरण है।
 
सभी लोग उसे देखें और डाउनलोड करें तथा जिस योजना हेतु पात्र हैं उसके लिये आवेदन करें। जिलाधिकारी ने कहा कि दिशा एप अधिकांश संख्या में डाउनलोड करवाया जाये। जिलाधिकारी ने गोवंश संरक्षण पर बल देते हुये निर्देश दिये कि गौशालाएं बनाने हेतु भूमि की आवश्यकता रहती है, ऐसे में प्रधान, एडीओ पंचायत गांव में उपलब्ध सरकारी जमीन की जानकारी उपलब्ध करायें जहां रोड और आस-पास विद्युत की सुविधा उपलब्ध हो। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि अभियान चलाकर पहले नंदियों को पकड़ा जाये और उन्हें नंदी गौशालाओं में सरंक्षित किया जाये। तदोपरांत अन्य निराश्रित गौवंशों को संरक्षित किया जाये। उन्होंने कहा जो लोग अपने पालतू पशुओं को दूध निकालकर छोड़ देते हैं उन्हें नोटिस देते हुये सचेत किया जाये यदि फिर भी नहीं मानते हैं तो पशु क्रूरता अधिनियम के अंतर्गत नियमानुसार विधिक कार्यवाही की जाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी जग प्रवेश, आईएएस दीक्षा जोशी, डीसी मनरेगा हसीब अंसारी, जिला पंचायत राज अधिकारी धर्मेन्द्र कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज कुमार, समस्त खण्ड विकास अधिकारी /खण्ड शिक्षा अधिकारी/सीडीपीओ व एडीओ पंचायत सहित संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।
 
 
Tags: Bareilly

About The Author

Latest News