चौथे चरण में भी भाजपा का बजा डंका,10 राज्यों में बहुमत होगी हासिल : अनुज मित्तल

गाजियाबाद। ( तरूणमित्र )

चौथे चरण में भी भाजपा का बजा डंका,10 राज्यों में बहुमत होगी हासिल : अनुज मित्तल

काम बोलता है, सूरत नहीं सीरत देखना चाहती है आवाम, वोट की चोट से होगा मजबूत हमारा देश, जनता को अब विपक्षियों के बरगलाने से नहीं पड़ता कोई फर्क, देश में अमन चैन होना और लोगों की जान की कीमत समझना ही सबसे बड़ा धर्म होता है। इन सब बायो का जिक्र करते हुए गाजियाबाद के भाजपा नेता अनुज मित्तल ने कहा कि एक मात्र भाजपा ही ऐसी पार्टी है जिसमें सबको एक समान समझते कार्य किये गए। जो मिसाल बने। भाजपा नेता अनुज मित्तल ने कहा कि ऐसी कोई एक योजना गिनाए विपक्ष जिस योजना में सर्व समाज को लाभ न मिला हो, उन्होंने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वह सब कर दिया जो पूर्व में रहे किसी भी प्रधानमंत्री ने नहीं किया था, उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की हर वर्ग के लिए अनमोल साबित हुई जिसमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के द्वारा जनहित में लगातार कार्य किया जा रहा है, उत्तर प्रदेश कभी माफियागिरी का प्रदेश हुआ करता था लेकिन आज उत्तर प्रदेश में अमन चैन होने का श्रेय सीधा मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को जाता है। सरकार चलाने के लिए सर्व समाज को एकजुट रखना ही सबसे बड़ी उपलब्धि होती है जिसमें योगी जी के नेतृत्व में यह सब हो पाया। अनुज मित्तल ने कहा कि परिवार वादी सरकार चलाने वालों को जनता ने अपने आप से कोसों दूर कर दिया है। जनता की कसौटी पर जो खरा उतरने का काम करेगा जनता वोट उसे ही करेगी जिसका जीता जागता उदाहरण सबके सामने है। विपक्ष तिलमिलाहट में है कि आखिर वह करे तो क्या करे इसलिए उसे कुछ मसाला तो चाहिए ही चूंकि आरोप नहीं लगाएंगे तो इन्हें पूछेगा कौन। आज चौथे चरण के चुनाव 10 राज्यों में हो रहे हैं और सभी राज्यों में भाजपा का डंका बजेगा। उन्होंने कहा कि विपक्ष उत्तर प्रदेश अपने लिए अधिक महत्वपूर्ण समझ रहा है लेकिन यहाँ तो उत्तर प्रदेश की भी 13 सीटों पर मतदाता भाजपा के पक्ष में ही वोट कर रहे हैं, उनका मानना है कि 400 सौ पार भाजपा बड़े ही आसानी से करेगी जिसका परिणाम आने वाली 4 जून को देखने को मिलेगा कि जनता ने सेहरा किसके सिर सजाया है। विपक्ष की तिलमिलाहट भी अपनी जगह पर ठीक है चूंकि हार का डर इन्हें बुरी तरह से सता रहा है तो जाहिर तौर पर तिलमिलाहट होना बाजिव है।

Tags:

About The Author