हादसे के बाद पीड़ित घुमाता रहा फोन, नहीं पहुंची पुलिस!

लखनऊ पुलिस के हैंडल पर ट्वीट करने के बाद भी नहीं दिखी सक्रियता

हादसे के बाद पीड़ित घुमाता रहा फोन, नहीं पहुंची पुलिस!

रत्नेश श्रीवास्तव

  • न सहायता को पहुंची 112 और न ही थाने की देर रात्रि गश्त करने वाली पुलिस दिखी

लखनऊ। राजधानी के गोमतीनगर विस्तार थाना क्षेत्र में बुधवार की रात में सड़क हादसे के बाद घायल सहायता के लिए डायल 112 से लेकर लखनऊ पुलिस के एक्स हैंडल पर ट्वीट कर अथवा फोन करके मदद की गुहार लगाता रहा, लेकिन रात में उसकी मदद करने के लिए कोई भी नहीं पहुंचा। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि डायल 112 और लखनऊ पुलिस आपात कालीन सेवाओं को लेकर कितना गंभीर है। घायल अवस्था में पड़ा युवक घंटों सड़क पर पड़ा रहा और अंत में राहगीरों की मदद से अस्पताल में भर्ती हो पाया।

गौर हो कि सीएम योगी ने सूबे की पुलिस व्यवस्था को उच्च श्रेणी का बनाने के लिए डायल 112 हेल्पलाइन पुलिस को हाइटेक वाहन देकर उन्हें निर्देशित किया है कि वो सभी आपातकालीन समस्या पर त्वरित कार्रवाई करने के लिए के लिए समय से मौके पर पहुंचे,लेकिन इसका सही से अनुपालन नहीं दिख रहा। यही वजह है कि हादसे में घायल युवक की सहायता करने के लिए कोई पुलिस नहीं पहुंच पायी।

मजे की बात यह है कि लखनऊ कमिश्नरेट की लग्जरी सुविधाओं वाली हाईटेक पुलिस सहायता के हेल्पलाइन नंबर पर कई बार काल की गई और कई बार बात हुई, मगर इसके बावजूद सूचनाकर्ता के पास पुलिस सहायता नहीं पहुंची। थक-हारकर पीड़ित ने पुलिस के सोशल मीडिया अकाउंट(लखनऊ पुलिस ) पर सूचना डाली लेकिन वहां भी पुलिस आयुक्त एस बी शिरोडकर की सिपाहियों के भरोसे चल रही व्यवस्था फेल हो गई। न ही पुलिस आयुक्त के डीसीपी जोन की इस सहायता मांगने वाले मैसेज पर निगाह पहुंची और न ही उस क्षेत्र के एसीपी की निगाह पड़ी।

हालांकि सोशल मीडिया अकाउंट के अनुसार इस मामले में लगभग दो घंटे बाद 112और यूपी का जवाब आया लेकिन तब तक पीड़ित ने राहगीरों की मदद से एक एम्बुलेंस को बुलाकर अपना एक अस्पताल में इलाज करवाया और वापस अपने जिले चला गया। पुलिस आयुक्त एस बी शिरोडकर के राज में जनता की सेवा और समाज की सुरक्षा व्यवस्था के लिए जिन आईपीएस अधिकारियों के कंधों पर जिम्मेदारी दी गई वह समाज की जनता से लगातार दूरी बनाते हुए सिर्फ सोशल मीडिया पर कर्तव्य करते दिखाई देते हैं। पूरा मामला यह था कि गोमतीनगर विस्तार थानाक्षेत्र में बुधवार की रात एक सड़क हादसे में घायल अभिषेक नामक व्यक्ति जोकि फैजाबाद का रहने वाला था और लखनऊ किसी काम से आया था और रात्रि 10 बजे के करीब तेज रफ़्तार कार ने उसे ठोकर मार दी और वह गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं इस संबंध में जब तरूणमित्र टीम ने डायल 112 के पीआरओ से बात की तो उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जाएगी।

Tags: lucknow

About The Author

Latest News

सराहनीय पहल : डाॅ बीपी त्यागी बनाएंगे रैबीज मुक्त गाजियाबाद सराहनीय पहल : डाॅ बीपी त्यागी बनाएंगे रैबीज मुक्त गाजियाबाद
गाजियाबाद में बुधवार को दोपहर 3:00 बजे अवकेनिंग इंडिया फाउंडेशन और महाराणा प्रताप वीर शिरोमणि ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस रेबीज...
माहे मोहर्रम पर इमाम हुसैन की प्यासी सिद्दत की याद में शर्बत वितरण किया गया
मुहर्रम पर शहर में निकाला गया ताजिया जुलूस
अकीदत व एहतराम के साथ ऐतिहासिक मुहर्रम सम्पन्न
महिला से चेन छिनतई, जांच में जुटी पुलिस
हेमंत सोरेन ने जेल से बाहर आकर चम्पाई सोरेन का पॉलिटिकल मर्डर किया : हिमंत विस्व सरमा
एटीएम में कार्ड फंसा, 96 हजार रुपये की हुई निकासी