धोखाधड़ी के आरोप में भाजपा सरगुजा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के उपाध्यक्ष गिरफ्तार

धोखाधड़ी के आरोप में भाजपा सरगुजा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के उपाध्यक्ष गिरफ्तार

अंबिकापुर/रायपुर। धोखाधड़ी के आरोप में भाजपा सरगुजा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के उपाध्यक्ष सेतराम बड़ा को शंकरगढ पुलिस ने गिरफ्तार किया है। शंकरगढ पुलिस ने शनिवार को जानकारी दी कि सेतराम बड़ा ने छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी में आपरेटर की नौकरी लगवाने का आश्वासन दिया था। इसके एवज में तीन लाख रुपये की मांग की थी। शंकरगढ़ थाना प्रभारी जितेंद्र सोनी ने बताया कि शंकरगढ़ निवासी पीड़ित अनिल कुमार खाखा ने सेतराम बड़ा के विरुद्ध लिखित शिकायत दर्ज कराई थी। पीड़ित ने तीन किस्त में एक-एक लाख रुपये सेतराम बड़ा को दिए थे।

बिजली आपरेटर की नौकरी नहीं लगने पर जब पीड़ित ने रुपयों की मांग की तो आरोपित देने से इनकार करने लगा। तब पीड़ित ने पुलिस से लिखित शिकायत की थी। जांच में आरोप प्रमाणित पाए गए आरोपित सेतराम बड़ा के विरुद्ध धोखाधड़ी का अपराध पंजीकृत किया गया था। उसकी तलाश की जा रही थी। आखिरकार उसे गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है। आरोपित सेतराम बड़ा भाजपा सरगुजा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के उपाध्यक्ष हैं। वे पूर्व में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ से जुड़े हुए थे। सेतराम ने जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की टिकट पर उन्होंने वर्ष 2018 में सीतापुर विधानसभा का चुनाव भी लड़ा था। बाद में उन्होंने भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। संगठन ने भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा में जिम्मेदारी दी थी।

 

 

Tags:

About The Author

Latest News