अब राजनीति के मैदान में उतरेंगे शाकिब अल हसन, लड़ेंगे चुनाव

अब राजनीति के मैदान में उतरेंगे शाकिब अल हसन, लड़ेंगे चुनाव

ढाका। बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन देश का 12वां संसदीय चुनाव लड़ेंगे ईएसपीएनक्रिकइंफो के अनुसार, वह सत्तारूढ़ अवामी लीग पार्टी से अपने गृह जिले मगुरा-1 निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे, जहां 7 जनवरी को मतदान होना है। शाकिब फिलहाल 6 नवंबर को श्रीलंका के खिलाफ विश्व कप मैच के दौरान लगी उंगली की चोट से उबर रहे हैं। अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि वह मैदान पर कब वापसी करेंगे। 28 नवंबर से 10 दिसंबर तक न्यूजीलैंड के खिलाफ दो घरेलू टेस्ट के बाद, बांग्लादेश छह सफेद गेंद मैचों के लिए 11 से 31 दिसंबर तक न्यूजीलैंड का दौरा करेगा। शाकिब ने विश्व कप से पहले घोषणा की थी कि वह एकदिवसीय कप्तान का पद छोड़ देंगे, लेकिन टी20 टीम के कप्तान बने रहेंगे।

तीन टी20 मैच 27 से 31 दिसंबर तक खेले जाएंगे और जून 2024 में अगले टी20 विश्व कप के साथ, टीमों ने पहले से ही अपनी टी20 योजनाओं पर ध्यान केंद्रित करना शुरू कर दिया है। शाकिब बांग्लादेश के पूर्व कप्तान मशरफे मुर्तजा का अनुसरण कर रहे हैं, जो पिछले चुनावों के दौरान नरैल से सांसद बने थे। मशरफे इस साल फिर से चुनाव लड़ रहे हैं। बता दें कि, बांग्लादेश में क्रिकेट और राजनीति के बीच का सम्बंध काफी पुराना है। शाकिब और मशरफे के अलावा, बीसीबी अध्यक्ष नजमुल हसन 2009 से सांसद हैं। उन्हें एक बार फिर अपने किशोरगंज निर्वाचन क्षेत्र से नामांकन मिला। बीसीबी निदेशक शफीउल आलम चौधरी को भी मौलवीबाजार सीट से नामांकन मिला। बांग्लादेश के पूर्व कप्तान नईमुर रहमान, जो मौजूदा सांसद थे, आगामी चुनावों के लिए मानिकगंज सीट सुरक्षित करने में विफल रहे।

Tags:

About The Author

Latest News

राष्ट्रीय लोक अदालत के मद्देनजर बैठक आयोजित  राष्ट्रीय लोक अदालत के मद्देनजर बैठक आयोजित 
गोपालगंज, व्यवहार न्यायालय परिसर में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत की सफलता हेतु शुक्रवार  को जिला एवं सत्र न्यायाधीश-सह-अध्यक्ष...
राहुल अखिलेश संदेश रथ पहुंचा गोपालगंज 
सांसद ने मुहैया कराए 2009 वृद्धजनों को जीवन सहायक उपकरण
अमेरिका के न्यूयॉर्क की एक बिल्डिंग में लगी भीषण आग
सरकार की छवि धूमिल होते देख करणी सैनिकों ने एआरटीओ को दिया अल्टीमेटम
इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को लेकर राज ठाकरे ने कहा ”ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से वोटिंग होनी चाहिए
UP: सिपाही भर्ती पेपर लीक: जाने कहां से हुई चूक