आइडिया लैब देख चमक उठी आंखें

आइडिया लैब देख चमक उठी आंखें

लखनऊ। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय में स्थापित इनोवेशन हब और एआईसीटीई-आइडिया लैब को देखने के लिए मंगलवार को बीबीडी लखनऊ के द्वितीय वर्ष एवं फाइनल वर्ष के छात्रों का एक दल पहुंचा। इस मौके पर कुलपति प्रोफेसर जेपी पांडेय के मार्गदर्शन में छात्रों ने विभिन्न विषयों के बारे में गहरायी से जाना। वहीं, सेंटर फॉर एडवांस्ड स्टडीज के निदेशक प्रो. वीरेंद्र पाठक ने कहा कि इन भ्रमणों  के आयोजन से छात्र विभिन्न क्षेत्र में दक्ष होंगे।

जो उनको भविष्य में काफी काम आयेगा। छात्रों ने इनोवेशन हब, उत्तर प्रदेश और एकेटीयू के इनक्यूबेशन सेंटर और एआईसीटीई-आइडिया लैब देखी। मैनेजर इनोवेशन हब  वंदना शर्मा ने छात्रों को स्टार्टअप नीति के तहत स्टार्टअप्स को वित्तीय और गैर-वित्तीय प्रोत्साहन के बारे में भी जानकारी दी। इस मौके पर एसोसिएट डीन इनोवेशन एंड इन्क्युबेशन डॉ अनुज शर्मा ने छात्रों को प्रयोगशालाओं और उनके कार्यप्रणाली की जानकारी दी।

डॉ. शर्मा ने स्टार्टअप इकोसिस्टम पहल के बारे में विस्तार से बताया, जो इनोवेशन हब फैकल्टी, स्टाफ, रिसर्च स्कॉलर्स, उत्तर प्रदेश के छात्रों और आसपास के स्टार्टअप्स के बीच इनोवेशन और एंटरप्रेन्योरशिप को बढ़ावा देने के लिए ले रहा है। सह-समन्वयक एआईसीटीई आइडिया लैब डॉ. राबेश सिंह ने छात्रों को प्रौद्योगिकी के हर क्षेत्र जैसे इंटरनेट ऑफ थिंग्स, बिग डेटा विश्लेषण, रोबोटिक्स और साइबर सुरक्षा आदि की जानकारी भी दी। इनोवेशन हब और एआईसीटीई-आइडिया लैब एवं सेंटर फॉर एडवांस्ड स्टडीज में स्थापित विभिन्न लैबों का भ्रमण एवं संचालन अनुराग चौबे के द्वारा किया गया।

 
 
 
Tags: lucknow

About The Author

Latest News