मजबूर पिता छोटे बेटे की ससुराल में कर रहा गुजर बसर

सुल्तानपुर। कलयुग अपने धीरे- धीरे चरम पर पहुंच रहा है, जिसका जीता जागता उदाहरण साफ है, एक पिता अपने बड़े बेटे से आजिज आकर पहले उसे नौकरी दी, फिर जमीन अब अपने जीवन जीने की भीख मांगता फिर रहा रहा है। मामला है तहसील क्षेत्र जयसिंहपुर के गांव गौरा का, जहां के निवासी रामचरित्र पांडे एक इंटर कॉलेज में लिपिक के पद पर तैनात थे। बड़े बेटे अरुण पांडे से अगाध प्रेम के चलते नौकरी पद से स्वैच्छिक  सेवानिवृत्ति लेकर नौकरी दिलवा दिया। फिर क्या हुआ दो वर्ष पूर्व नौकरी पाने के बाद अरुण पांडे, व उनकी पत्नी पिता पर सेवा भाव के डोरे डालते हुए, जमीन का बैनामा भी करवा लिया।
 
जमीन हथियाने के बाद अरुण कुमार पिता राम चरित्र पांडे पर जुर्म ढाना शुरू कर दिया। तब पिता को छोटे बेटे अरविंद पांडे की याद आई, और पिता अपना जीवन जीने के लिए छोटे बेटे की ससुराल में शरण लिया। यह सब बड़े बेटे अरुण को नागवार गुजरा जालसाजी करते हुए पिता, छोटे भाई अरविंद व उसकी पत्नी किरण पांडे पर मुकदमा दर्ज कर दिया। पिता की पैरोंकारी कर रहे मुकेश तिवारी पुत्र जयनारायण को भी सह अभियुक्त बना दिया।
 
मीडिया ने जब मामले की पड़ताल करना शुरू किया तो पिता रामचरित्र पांडे ने कहा कि भले ही वह जन्म से मेरा बेटा है। भारतीय संस्कृति व सामाजिकता पर कुठाराघात करते हुए लगातार मेरे साथ अन्याय कर रहा है। ईश्वर साक्षी है, मेरे जीवन का जो भी कुछ क्षण बचा हुआ है मौत होना वास्तविक है। सभी से गुजारिश है कि मेरी मौत पर आंसू पोछने मेरा बड़ा बेटे को नहीं आना चाहिए। पुलिस अधीक्षक सोमेन बर्मा ने बताया कि मामले में न्यायालय के आदेश से मुकदमा दर्ज हुआ है, वरिष्ठ नागरिक के साथ निष्पक्ष कार्रवाई करने के लिए बिवेचक को आदेशित कर दिया गया है।
 
 
 
 
 
Tags: Sultanpur

About The Author

Latest News

राष्ट्रीय लोक अदालत के मद्देनजर बैठक आयोजित  राष्ट्रीय लोक अदालत के मद्देनजर बैठक आयोजित 
गोपालगंज, व्यवहार न्यायालय परिसर में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत की सफलता हेतु शुक्रवार  को जिला एवं सत्र न्यायाधीश-सह-अध्यक्ष...
राहुल अखिलेश संदेश रथ पहुंचा गोपालगंज 
सांसद ने मुहैया कराए 2009 वृद्धजनों को जीवन सहायक उपकरण
अमेरिका के न्यूयॉर्क की एक बिल्डिंग में लगी भीषण आग
सरकार की छवि धूमिल होते देख करणी सैनिकों ने एआरटीओ को दिया अल्टीमेटम
इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को लेकर राज ठाकरे ने कहा ”ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से वोटिंग होनी चाहिए
UP: सिपाही भर्ती पेपर लीक: जाने कहां से हुई चूक