किसान उपयोगी परियोजनाएं एवं अनुसंधान चलाने पर दिया बल

किसान उपयोगी परियोजनाएं एवं अनुसंधान चलाने पर दिया बल

बरेली। भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान का जैव रसायन विभाग अपने स्वर्ण जयन्ती समारोह के अवसर पर ’’एक स्वास्थ्य के लिए मल्टीओमिक्सः जैव चिकित्सा अनुसंधान में चुनौतियां एवं संभावनाएं’’ विषय पर दो दिवसीय एस.वी.बी.बी.आई के सप्तम वार्षिक सम्मेलन एवं अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन मुख्य अतिथि डा. धीर सिंह, निदेशक एवं कुलपति  राष्ट्रीय डेयरी संस्थान करनाल एवं संस्थान के निदेशक डा. त्रिवेणी दत्त द्वारा किया गया। मुख्य अतिथि एवं निदेशक राष्ट्रीय डेयरी संस्थान करनाल ने आयोजकों को बधाई देते हुए कहा कि यह विषय बहुत ही महीन एवं महत्वपूर्ण है
 
जिनके उचित समझ व उपयोग से पशु स्वास्थ्य एवं उत्पादन में अभूतपूर्व सुधार किया जा सकता है।डा. सिंह ने अमेरिका के मानव जीनोम परियोजना का उदाहरण देते हुए कहा कि अभी तक पशु जीनोम के अध्यन्न व अनुसंधान पर ज्यादा बल नहीं दिया गया और अभी भी पशु जीनोम की जटिलता और विभिन्नताओं पर शोध होना बाकी है। उन्होंने वैज्ञानिकों और अनुसंधानकर्ताओं को किसान उपयोगी परियोजनायें एवं अनुसंधान चलाने पर बल दिया जिससे हमारे किसानों की आय और उनके पशुओं के स्वास्थ्य में वृद्धि हो।
 
संस्थान के निदेशक एवं कुलपति डा. त्रिवेणी दत्त ने संस्थान के जैव रसायन विभाग की स्थापना के स्वर्ण जंयंती समारोह के अवसर पर सभी पूर्व एवं वर्तमान वैज्ञानिकों एवं अनुसंधानकर्ताओं को बधाई दी। उन्होंने विभाग की उपयोगिता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह विभाग संस्थान के अनुसंधान और शिक्षा में बहुत महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। भारतीय जैव रसायज्ञ एवं जैव प्रौद्योगिकीविद् समाज के अध्यक्ष डा. बी.पी. मोहंती ने इस संगठन के इतिहास व कार्यों का उल्लेख किया
 
जबकि इसी समाज के सचिव डा. शुभाशीष बटाब्या ल ने देश के विभिन्न पशु चिकित्सा महाविद्यालयों में अलग से जैव रसायन विभाग के गठन पर जोर दिया जो कि सभी अन्य पशुचिकित्सा विषयों को आधारभूत जानकारियों मुहैया कराता है। इससे पूर्व इस कार्यक्रम के आयोजन सचिव डा. मनीष महावर प्रधान वैज्ञानिक जैव रसायन विभाग ने उपस्थित सभी गणमान्य लोगों का स्वागत किया एवं संगोष्ठी के बारे में संक्षिप्त जानकारियाँ दी। इस अवसर पर सभी संयुक्त निदेशक, अनेक विभागों के विभागाध्यक्ष, सेवानिवृत्त वैज्ञानिक, अनुसंधानकर्ता, छात्र एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे।
 
 
Tags: Bareilly

About The Author

Latest News