गला काटकर हत्या मामले में दोषियों के गिरफ्तारी की मांग,आई.जी. तक पहुंचा मामला

गला काटकर हत्या मामले में दोषियों के गिरफ्तारी की मांग,आई.जी. तक पहुंचा मामला

बस्ती - फेरी लगाकर जीविकोपार्जन करने वाले हरिकान्त की गला काटकर नृशंस हत्या मामले में दोषियों की गिरफ्तारी न होने और मुण्डेरवा पुलिस की सुस्ती से परिजनों में रोष है। मंगलवार को मुण्डेरवा थाना क्षेत्र के रामपुर रेवटी निवासी सन्तोष गुप्ता ने अपने भाई हरिकान्त की गला काटकर नृशंस हत्या मामले में पुलिस महानिरीक्षक और सी.ओ. रूधौली से मिलकर न्याय की गुहार लगाया है।
पुलिस उच्चाधिकारियोें को भेजे पत्र में सन्तोष गुप्ता ने कहा है कि गत 3 मई 2024 की रात में उनके भाई हरिकान्त गुप्ता को अज्ञात व्यक्ति द्वारा  बुलाया गया और धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर दी गई। पत्र में कहा गया है कि मृतक हरिकान्त गुप्ता के साथ घटना से पूर्व रात्रि लगभग 10.30 बजे गांव के  सोनू सिंह पुत्र स्वर्गीय ब्रम्हदेव सिंह गांव के निकट चौराहे पर मिले थे। उनके साथ अक्सर बैठने वाले अमृत सिंह उर्फ खन्नू सिंह पुत्र हंसनाथ, बुलट उर्फ शिवकुमार सिंह पुत्र उदयभान सिंह, लल्ला ंिसंह पुत्र श्याम मोहन सिंह, हल्लौर नगरा निवासी राजेश पुत्र सुखराज, सुबराती पुत्र गुलाम अली से भी पुलिस ने अभी तक कोई पूंछताछ नहीं किया। नृशंस हत्या मामले में पुलिस द्वारा कोई गिरफ्तारी नहीं की गई। मुण्डेरवा पुलिस न तो जांच में रूचि ले रही है न कोई प्रभावी कार्यवाही कर रही है।  सन्तोष गुप्ता ने मांग किया है कि उनके भाई हरिकान्त की हत्या मामले में दोषियों को गिरफ्तार करने के साथ ही परिवार के जान माल की सुरक्षा करायी जाय।

Tags:

About The Author

Sarvesh Srivastava Picture

सर्वेष श्रीवास्तव, उत्तर प्रदेश के बस्ती जनपद के ब्यूरो प्रमुख

Latest News

डीएम की अध्यक्षता व निर्देशन में जनपद की तीनों तहसीलों में सम्पूर्ण समाधान दिवस सम्पन्न डीएम की अध्यक्षता व निर्देशन में जनपद की तीनों तहसीलों में सम्पूर्ण समाधान दिवस सम्पन्न
गाजियाबाद। ( तरूणमित्र ) 22 जुलाई। डीएम इन्द्र विक्रम सिंह के निर्देशन में जनपद की तीनों तहसील में प्रत्येक माह...
एटम बम से खतरनाक साइबर अटैक : प्रकाश सिंह
द हंस फाउंडेशन ने नगर पालिका बालिका इंटर कॉलेज चन्द्रपुरी में हंस वेलनेस सेंटर का उद्घाटन किया
कांवड मार्ग पर दुकानों पर नाम लिखने के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक : इंद्रजीत सिंह टीटू
जाम से निजात हेतु एसडीएम ने सीओ को भेजा पत्र
निस्तारण में लापरवाही क्षम्य नही : अपर जिलाधिकारी
बकाया मूल्यांकन पारिश्रमिक का भुगतान एक सप्ताह में कर दिया जाएगा-डीआईओएस