बैंक में 42 लाख की लूट, बैंक का कर्मचारी ही निकला मास्टरमाइंड

बैंक में 42 लाख की लूट, बैंक का कर्मचारी ही निकला मास्टरमाइंड

दमोह। मध्य प्रदेश के दमोह जिले के अंतर्गत आने वाले ग्राम फतेहपुर में मध्यांचल बैंक में लाखों की लूट का मामला जैसे ही सामने आया पुलिस के हाथ पैर फूल गए। दमोह जिले के इतिहास का यह एक बड़ा मामला बताया जा रहा था। दमोह के पुलिस अधीक्षक श्रुत कृति सोमवंशी एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संदीप मिश्रा ने स्वयं कमान संभाली और मामले को सुलझाने के लिए जिले की समस्त थाने के पुलिस को घेराबंदी के निर्देश दे दिए। वही सागर संभाग के डीआईजी भी सूचना मिलते ही मौका स्थल पर पहुंचे। पुलिस ने जांच के दौरान संदेह के आधार पर कार्यवाही प्रारंभिक की तो मामला निकलकर सामने आया कि जिस मध्यांचल ग्रामीण बैंक में लूट हुई है उसी का कर्मचारी जो अस्थाई कर्मचारी है द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर लूट की घटना को अंजाम दिया था। घटना में वास्तविकता नजर इसके लिए उसने स्वयं को घायल भी करवाया तथा साथियों के द्वारा कुछ नोटों की गड्डियां यहां वहां नालियों में फेंक दी गई । पुलिस की सूझबूझयता और सक्रियता के चलते मंगलवार देर रात पूरे मामले को सुलझा लिया गया। मामले में बैंक कर्मचारी ही आरोपित निकले। बुधवार को पुलिस अधीक्षक सोमवंशी ने बताया 42 लख रुपए की राशि जब्त कर ली गई है तीन आरोपित बनाए गए हैं। पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है । लूट की बड़ी घटना की गुत्थी सुलझाने में दमोह साइबर सेल की भी महत्वपूर्ण भूमिका रही।

 

 

Tags:

About The Author

Latest News

डीएम की अध्यक्षता व निर्देशन में जनपद की तीनों तहसीलों में सम्पूर्ण समाधान दिवस सम्पन्न डीएम की अध्यक्षता व निर्देशन में जनपद की तीनों तहसीलों में सम्पूर्ण समाधान दिवस सम्पन्न
गाजियाबाद। ( तरूणमित्र ) 22 जुलाई। डीएम इन्द्र विक्रम सिंह के निर्देशन में जनपद की तीनों तहसील में प्रत्येक माह...
एटम बम से खतरनाक साइबर अटैक : प्रकाश सिंह
द हंस फाउंडेशन ने नगर पालिका बालिका इंटर कॉलेज चन्द्रपुरी में हंस वेलनेस सेंटर का उद्घाटन किया
कांवड मार्ग पर दुकानों पर नाम लिखने के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक : इंद्रजीत सिंह टीटू
जाम से निजात हेतु एसडीएम ने सीओ को भेजा पत्र
निस्तारण में लापरवाही क्षम्य नही : अपर जिलाधिकारी
बकाया मूल्यांकन पारिश्रमिक का भुगतान एक सप्ताह में कर दिया जाएगा-डीआईओएस