विद्यालय में आयोजित हुई अनुशासनात्मक बैठक

विद्यालय में आयोजित हुई अनुशासनात्मक बैठक

अनुशासन से ही निखरता है शिक्षक का व्यक्तित्व,,राकेश सिंह

जहानागंज आजमगढ़। शिक्षक के व्यक्तित्व  एवं आचरण का सीधा प्रभाव बच्चों पर पड़ता है  मां-बाप एवं बच्चों के अभिभावक भी अपने से ज्यादा भरोसा शिक्षकों के ऊपर करते हैं और बच्चे भी अभिभावकों से ज्यादा शिक्षकों की बातों को महत्व देते हैं इसलिए प्रत्येक शिक्षक को विद्यालय में स्वयं अनुशासित रहते हुए अनुकरणीय आचरण ही प्रस्तुत करना चाहिए । उक्त बातें श्री राम राष्ट्रीय इंटर कॉलेज के प्रबंधक राकेश कुमार सिंह ने मंगलवार को विद्यालय के सभागार हाल में आयोजित अनुशासनात्मक समीक्षा बैठक के दौरान कही। उन्होंने कहा कि अधिकारियों के सामने शिक्षक को किस प्रकार बैठकर किस तरह बात करना चाहिए इसका ज्ञान हर हाल में होना चाहिए और अपनी गरिमा के अनुरूप समाज में कार्य करना चाहिए जब शिक्षक स्वयं अनुशासित नहीं होगा तो उसका बुरा प्रभाव बच्चों के ऊपर पड़ेगा किसी विद्यालय की गरिमा विद्यालय के अनुशासन से प्रभावित होती है शिक्षक की बॉडी लैंग्वेज कार्य शैली एवं व्यक्तित्व का अनुकरण बच्चे करते हैं इसलिए शिक्षक को अपनी मर्यादा और जिम्मेदारी के अनुरूप पूरी निष्ठा पूर्वक कार्य करना चाहिए। इस अवसर पर विद्यालय के प्रवक्ता अशोका नन्द सिंह ,मनीष मौर्य, दीपक यादव, कमलेश राय, प्रदीप गुप्ता, वशिष्ठ यादव, अमित कौशल, कुलदीप बौद्ध, सुधीर उपाध्याय, रवि प्रकाश मौर्य, रविंद्र लाल श्रीवास्तव, हनी सिंह सहित अन्य शिक्षक गण भी उपस्थित थे।

Tags: Azamgarh

About The Author

Latest News