तेजस्वी यादव के आवास पर अचानक पुलिस 

तेजस्वी यादव के आवास पर अचानक पुलिस 

पटना : बिहार में सोमवार को फ्लोर टेस्ट होना है. नीतीश कुमार बहुमत का टेस्ट पास कर पाएंगे या फिर बाजी आरजेडी ले जाएगी, इसी पर सबकी नजरें टिकी हैं. लेकिन फ्लोर टेस्ट से पहले राज्य में सियासी सरगर्मियां तेज हो गई हैं. रविवार रात अचानक बिहार पुलिस पूर्व डिप्टी सीएम और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के आवास पर पहुंच गई. उनके आवास के बाहर के हिस्से को छावनी में तब्दील कर दिया गया और बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई. पूरे बिहार में हाई अलर्ट है और बताया जा रहा है कि हम पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी भी 'लापता' हैं.

चेतन आनंद के भाई ने की शिकायत
इसके अलावा सड़क के दोनों ओर बैरिकेडिंग कर दी गई. इसके बाद एसडीएम, एसपी सिटी तेजस्वी यादव के आवास में दाखिल हुए. यूं अचानक पुलिस के पहुंचने से तेजस्वी यादव के घर के बाहर आरजेडी समर्थक भड़क गए और नारेबाजी करने लगे. कुछ देर बाद जब पुलिस बाहर निकली तो आरजेडी के समर्थकों ने उनकी गाड़ियों के पीछे दौड़कर नारेबाजी की. बताया जा रहा है कि आरजेडी विधायक चेतन आनंद के छोटे भाई ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके भाई को तेजस्वी यादव ने हाउस अरेस्ट कर लिया है. इसके बाद एसडीएम और एसपी तेजस्वी यादव के आवास पर पहुंचे.  

चेतन आनंद बाहुबली आनंद मोहन के बेटे हैं. शनिवार को तेजस्वी यादव के बंगले पर आरजेडी विधायकों की बैठक हुई थी. इसके बाद फ्लोर टेस्ट तक विधायकों को तेजस्वी यादव के ही आवास पर रुकने को कह दिया गया. इन विधायकों के बैग और कपड़े भी आवास पर मंगवा लिए गए. तेजस्वी यादव के आवास पर विधायकों के शतरंज और क्रिकेट खेलने की खबरें भी आईं. इसके अलावा एक शख्स के गिटार बजाते वीडियो भी वायरल हुआ.

पुलिस के बाद तेजस्वी आवास से निकले कई विधायक

दरअसल, चेतन आनंद के छोटे भाई अंशुमन आनंद ने पुलिस में एफआईआर दर्ज करवाई कि तेजस्वी यादव के आवास पर उनके भाई को हाउस अरेस्ट कर लिया गया है. इसके बाद पुलिस तेजस्वी यादव के आवास पर पहुंची. तेजस्वी यादव के घर पुलिस पहुंचने के बाद आरजेडी नेताओं ने नीतीश कुमार की अगुआई वाली बिहार सरकार पर जमकर हमला बोला. आरजेडी नेताओं ने कहा कि नीतीश कुमार की फ्लोर टेस्ट से पहले घबराहट साफ नजर आ रही है. सोमवार को फ्लोर टेस्ट में नीतीश कुमार की सरकार गिर जाएगी. 

लेकिन जब पुलिस तेजस्वी आवास से निकली उसके कुछ ही देर बाद कई विधायक अपने वाहनों में बैठकर निकल गए. हालांकि ये विधायक अपने आवास पर गए हैं या कहीं और रुकेंगे, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है.
होटल में शिफ्ट हुएजेडीयू  विधायक
दूसरी ओर, ऑपरेशन लालटेन के डर से आनन फानन में जेडीयू ने लिया बड़ा फैसला लेते हुए अपने विधायकों को होटल चाणक्य में शिफ्ट कर दिया है.सोमवार को होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले होटल चाणक्य में 20 कमरे बुक किए गए गए हैं, जहां इन विधायकों को ठहराया जाएगा. पूर्व मंत्री लेसी सिंह शीला मंडल भी होटल चाणक्य पहुंची हैं. बीजेपी के विधायकों को होटल पाटलिपुत्र एजोटिका एक्जीविशन रोड में ठहराया गया है. बीजेपी विधायक और विधान पार्षद इसी होटल में ठहरेंगे. 
क्या कहते हैं बिहार विधानसभा के आंकड़े
बिहार विधानसभा में कुल 243 सीटें हैं और बहुमत का आंकड़ा 122 है. 
आरजेडी के 79 कांग्रेस के 19 और लेफ्ट के 16 विधायकों के साथ महागठबंधन के पास 114 विधायक हैं. यानी बहुमत से 8 कम.वहीं एनडीए के पास बीजेपी के 78, जेडीयू के 45,  हम के 4 और एक निर्दलीय विधायकों को लेकर 128 वोट हैं, जो बहुमत से 6 ज्यादा हैं. 

 

Tags: tejase

About The Author

Latest News