प्रधानमंत्री के 'मन की बात' कार्यक्रम देश के आम जन के मन की बात - विष्णुदत्त शर्मा

प्रधानमंत्री के 'मन की बात' कार्यक्रम देश के आम जन के मन की बात - विष्णुदत्त शर्मा

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री ने दिव्यांग बच्चों के साथ सुना “मन की बात“ कार्यक्रम
भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम “मन की बात“ का 107 वां संस्करण रविवार को प्रसारित हुआ। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद व पूर्व मंत्री व विधायक अजय विश्नोई ने बंसल वन स्थित पार्टी के प्रदेश मीडिया सेंटर में दिव्यांग बच्चों के साथ “मन की बात“ कार्यक्रम को सुना। मन की बात कार्यक्रम से पहले दिव्यांग बच्चों और दिव्यांग जनों की उपस्थिति में वैदिक बटुकों ने वेद पाठ किया। प्रधानमंत्री के मन की बात कार्यक्रम के पश्चात प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और प्रदेश संगठन महामंत्री हितानन्द ने पार्टी नेताओं के साथ कार्यक्रम में शामिल हुए दिव्यांग बच्चों को गर्म वस्त्र भेंट किये।

वैदिक बटुकों ने किया वेद पाठ
सुबह सवा दस बजे से करीब एक सैकड़ा से अधिक दिव्यांगजनों की मौजूदगी में वैदिक बटुकों ने वेद पाठ किया। कार्यक्रम का शुभारंभ मन की बात कार्यक्रम के प्रदेश प्रभारी व पार्टी के प्रदेश कार्यालय मंत्री डॉ. राघवेंद्र शर्मा और प्रदेश मीडिया प्रभारी आशीष अग्रवाल ने दीप प्रज्जवलित कर किया। वैदिक बटुकों द्वारा किए गए वेदपाठ ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया और पूरा वातावरण आध्यात्मिक हो गया। कार्यक्रम में दिव्यांग जनों के लिए इंटर प्रिटेटर उपस्थित थे, जिन्होंने साइन लैंग्वेज के माध्यम से दिव्यांग जनों को प्रधानमंत्री के उद्बोधन से अवगत कराया।

प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम से देश और समाज के लिए काम करने वाले लोग होते हैंं प्रोत्साहित
कार्यक्रम के पश्चात उपस्थित जनों को सम्बोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी “ मन की बात“ कार्यक्रम उन लोगों का जिक्र कर करते है जो बिना प्रसिद्धि के निस्वार्थ भाव से हमेशा देश और समाज के लिए काम करते है। इससे समाज सेवा के प्रति उनका जो जज्बा है उसे प्रोत्साहन मिलता है। उन्होंने कहा कि आज कल विदेशों में जाकर डेस्टिनेशन वेडिंग का फैशन बना है। प्रधानमंत्री ने “मन की बात“ कार्यक्रम के 107 वें संस्करण में देशवासियों से विदेशों में न जाकर भारत में ही अपनी संस्कृति में डेस्टिनेशन वेडिंग करने का आव्हान किया है। साथ ही प्रधानमंत्री ने लोकल फॉर वोकल को ध्यान में रखते हुए ज्यादा से ज्यादा खरीदारी की बात कही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री देश की जनता से जो भी आव्हान करते है उसे व्यापक समर्थन मिलता है। प्रधानमंत्री ने दीपावली पर देश वासियों से लोकल फॉर वॉकल खरीदारी का आव्हान किया था, इसके परिणाम यह रहें की दीपावली पर 4 लाख करोड़ से अधिक का लोकल व्यवसाय हुआ। साथ ही देश वासियों ने खरीदारी करते समय मेड इन इण्डिया की और भी विशेष ध्यान दिया। श्री शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मन की बात कार्यक्रम के माध्यम से देश की आम जनता के मन की बात करते है।

आध्यात्म से होती है मनुष्य के कल्याण की बात
मन की बात कार्यक्रम से पहले अपने उद्बोधन में पार्टी के प्रदेश कार्यालय मंत्री और मन की बात कार्यक्रम के प्रदेश प्रभारी डॉ. राघवेंद्र शर्मा ने कहा कि भौतिक नेत्रों की इतनी क्षमता नहीं कि वे भगवान और आध्यात्मिकता का पूरा दर्शन कर सकें। हर व्यक्ति जब मंदिर या धार्मिक स्थल जाता है तो वह आंखे बंद करके मन से ही भगवान के दर्शन करता है। यही आध्यात्मिक दर्शन है। विज्ञान आज जहां तक पहुंचा है, पहुंच रहा है या पहुंचेगा, वह हमारे वेदों के आधार पर ही पहुंचा है। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस विज्ञान का चमत्कार है, वह भी बिना वेदों के संभव नहीं है। मनुष्य के कल्याण की बात आध्यात्मिक शक्ति से ही संभव है। शक्ति दो प्रकार की है, भगवान राम की शक्ति लोगों को निर्भय बनाती है, जबकि रावण की शक्ति भय देती है। वैदिक बटुकों ने यहां वेदों का पाठ किया है। अब बच्चों को ध्यान में बैठाने का कार्य भी शुरू किया गया है। धीरे-धीरे लोगों में वेदों की बातों को उतारने का कार्य किया जा रहा है। स्टेच्यू ऑफ वननेस की तरह वेद भगवान की भी सबसे बड़ी प्रतिमा स्थापित की जानी चाहिए। यह भारतीय संस्कृति को आगे बढ़ाने और लोगों को आध्यात्मिकता से जोड़ने का कार्य होगा।

इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार रमेश शर्मा, ब्रह्म कुमारी परिवार से अभिलाषा दीदी, सरिता दीदी, संगीता दीदी, जितेंद्र भाई, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी जुगल शर्मा, क्षमा त्रिपाठी, मीडिया पैनलिस्ट मंजरी जैन, वंदना मार्तण्ड त्रिपाठी, एड. गुंजन चौकसे, मीडिया विभाग सदस्य सत्येंद्र जैन, डॉ जगदीश चौहान, राजेंद्र दीक्षित, सुशील यादव, डॉ रूप सिंह किरार, अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग क्रिकेटर सोनू गोलकर, अनिमेष भार्गव, राजेश शुक्ला, कपिल भार्गव, भूपेश भार्गव, सत्यम मिश्रा, संतोष धाकड़ सहित दिव्यांग बच्चें उपस्थित थे।

Tags:

About The Author

Latest News