रविवार को गाँव की चौपाल तक पहुंचा आप का डोर-टू-डोर कार्यक्रम

गांव समाज तक संजय की गिरफ़्तारी को लेकर रोष व्याप्त

रविवार को गाँव की चौपाल तक पहुंचा आप का डोर-टू-डोर कार्यक्रम

संजय सिंह को जेल भेजना ठीक नहीं हैं। वो अच्छे आदमी हैं हम लोगों के लिए बहुत लड़ाई लड़ी हैं। वो घोटाला नहीं कर सकते। यह विचार ग्राम चौपाल में ग्रामीणों ने तब व्यक्त किए ज़ब आम आदमी पार्टी के कार्यकर्त्ता संजय सिंह की गिरफ़्तारी का सच बताने के लिए पर्चे बाटने पहुचे थे।
बीते मंगलवार से शुरू हुआ घर घर पर्चे बाटने का अभियान रविवार को छठे दिन भी जारी रहा।

शहर की कॉलोनी, दफ़्तरो, पटरी दुकानदारों, गुमटीयों से होता हुआ यह अभियान अब ग्राम चौपालों तक पहुंच रहा हैं। खुद पार्टी कार्यकर्त्ता को उम्मीद नहीं थी की उनके नेता का गांव के आखिरी व्यक्ति तक समर्थन प्राप्त हैं।राजधानी लखनऊ में रविवार को मलिहाबाद बक्शी का तालाब मोहनलालगंज के ग्रामीण इलाकों सहित कृष्णा नगर, लोहिया नगर, हुसैनाबाद, जानकीपुरम, इंदिरा नगर सहित कई जगह अभियान चलाया गया।

अभियान में नीरा सक्सेना, ब्रजेश शर्मा, रेखा चतुर्वेदी, रवि प्रकाश, नितिन कुमार, शुभम वर्मा, राजन भारती, विनय पटेल, नीरज गुप्ता, पी के बाजपेई, ज्ञान सिंह, वत्सल तिवारी, शैलेन्द्र, राकेश भारतीय, संगीत गाँधी, सागर कनौजिया, रिचा, सपना पवन, तारा देवी, नीशू सिंह सहित कई कार्यकर्त्ता मौजूद रहे। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्त्ता ज़ब इन चौपालों तक पहुचे तो ग्रामीणों ने आक्रोश जताया और कहा की सरकार संजय सिंह को जेल भेजकर आम जनमानस में अपने लिए रोष पैदा कर रही हैं कोई भी उनको गलत नहीं मानता हैं।

इस मौके पर जिलाध्यक्ष शेखर दीक्षित का कहना था की इन लोगों से बातचीत करके एहसास हुआ कि बीजेपी सरकार इन दिनों उसी तरह की नीति अपना रही हैं जैसी इमरजेंसी के दौरान इंदिरा गाँधी ने अपनाई थी उन्होंने जिस तरह मीडिया, विरोधी नेताओं और विरोध में बोलने वाले हर शख्श को जेल भेज दिया था उसी तरह बीजेपी सरकार इडी और सीबीआई के मार्फ़त अपने विरोधियों को निबटाने का काम कर रही हैं। जिलाध्यक्ष ने कहा कि लेकिन सरकार को याद रखना चाहिए 

कि उसके बाद इंदिरा गाँधी का क्या हश्र हुआ था। जनता 2024 का इंतजार कर रही हैं और आने वाले दिनों में जनता अपने वोट कि ताकत से सरकार को सबक सिखाने के लिए तैयार हैं।जिलाध्यक्ष शेखर दीक्षित ने कहा कि सरकार को लगता हैं कि हिन्दू- मुस्लिम करके, जाति को जाति से लड़ा कर, धर्म को धर्म से और मजहब को मजहब से लड़ा कर सरकार चुनाव जीत जाएगी। लेकिन यह बार बार नहीं चलता।

जिलाध्यक्ष शेखर दीक्षित ने कहा कि आप सांसद संजय सिंह को इडी के द्वारा झूठे केस में फसा कर जिस तरह उनको जेल भेजा गया। सिर्फ उनको ही नहीं मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन को भी लम्बे समय से इडी ने जेल में डाल रखा हैं जबकि किसी के. खिलाफ जाँच एजेंसी कोई सबूत पेश नहीं कर सकी हैं. जनता सब देख रही हैं और जनता से बड़ी कोई अदालत नहीं होती है।

Tags: lucknow

About The Author