झरनापति महादेव मंदिर पर सात दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन

धर्म और संस्कृति रक्षार्थ भागवत कथा जैसे धार्मिक आयोजन आवश्यक- डॉ० संदीप

झरनापति महादेव मंदिर पर सात दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन

झाँसी। झरनापति महादेव, झरना गेट के तत्वावधान में श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ एवं 21 सर्वजातीय कन्या विवाह महायज्ञ का शुभारम्भ हुआ। 31 जनवरी तक चलने वाले इस कार्यक्रम की शुरुआत कलश एवं शोभा यात्रा के साथ की गई जिसमें रथ, घोड़ों पर भगवानों के स्वरूप सुसज्जित रूप से विराजमान रहे। आगे सैकड़ो की संख्याओं में महिलाएं सिर पर कलश लेकर धार्मिक उद्घोष करते हुए चल रही थीं। इस अवसर पर वृंदावन की भागवत कथाचार्या संस्कृति दीदी द्वारा भागवत कथा का वाचन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में संघर्ष सेवा समिति के संस्थापक डॉ संदीप सरावगी एवं संयोजक के रूप में पंडित बलवीर रावत, महंत अलबेला सरकार, भाजपा नेत्री कविता शर्मा एवं संतोष श्रीवास उपस्थित रहे। डॉ० संदीप ने विधिवत पूजन कर कार्यक्रम की शुरुआत की। 
 
कार्यक्रम के प्रथम दिन सैकड़ो की संख्या में भक्तजन उपस्थित रहे।प्रथम दिवस पर भागवत कथा सुनकर भक्तगण मंत्रमुग्ध हुए। मुख्य अतिथि के रूप में मंचासीन संदीप सरावगी ने कहा गीता का ज्ञान सर्वश्रेष्ठ है, मनुष्य को जीवन किस प्रकार व्यतीत करना चाहिए यह ज्ञान हमें गीता से मिलता है। इस अवसर पर गोपाल नैनवानी, राधे राय, ज्योति स्वरूप बंसल, धर्मेंद्र पाखरे, अश्वनी कुमार, धर्मेंद्र प्रजापति, मुकेश साहू, विजय साहू, सभासद नितिन साहू, बद्री साहू, मुकेश सिंघल, अजय कोस्टा, राजा भईया पाल, सीमा विश्वकर्मा, मोहन पहलवान, संतोष सभासद, सीताराम श्रीवास एवं संघर्ष सेवा समिति से संदीप नामदेव, अनुज प्रताप सिंह, राजू सेन, बसंत गुप्ता, राकेश अहिरवार, सुशांत गेड़ा, भरत कुशवाहा, मिथुन कुशवाहा एवं आशीष विश्वकर्मा आदि सम्मिलित रहे।
 
 
Tags: Jhansi

About The Author

Latest News