अपने संसाधनों से गौशालाओं को आत्म निर्भर बनायें : डॉ. रोशन जैकब

मण्डलायुक्त ने निराश्रित गोवंश संरक्षण के लिए विशेष अभियान की समीक्षा

अपने संसाधनों से गौशालाओं को आत्म निर्भर बनायें : डॉ. रोशन जैकब

  • एक नवंबर से 31 दिसंबर तक चलेगा अभियान

लखनऊ । मण्डलायुक्त डा. रोशन जैकब की अध्यक्षता में पशुपालन विभाग की मण्डलीय समीक्षा बैठक मण्डलायुक्त कार्यालय सभाकक्ष में आयोजित की गई। मण्डलायुक्त ने खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि अपने संसाधनों से गौशालाओं को आत्म निर्भर बनायें। उन्होंने कहा कि गौशालाओं की कब्जा मुक्ति करायी गई भूमि पर हरा चारा की बुआई करायी जाये, जिससे पुन: कब्जा नहीं हो पायेगा ।इसके साथ ही उसकी मेढ़बन्दी कर तार भी लगवा दें। मण्डलायुक्त ने जिलाधिकारियों से कहा कि यह भी सुनिश्चित करें कि कब्जा मुक्त करायी गई भूमि पर गौशालाओं का कब्जा प्राप्त हो गया है। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि मुख्य सड़कों पर गोवंश दिखायी देते है। इससे प्रतीत होता है इसमें ढ़िलाई बरती जा रही है। और यह भी कहा कि रायबरेली, खीरी व हरदोई में अधिक संख्या में गोंवश दिखायी देते है। उन्हें अभियान चलाकर गौशालाओं में रखा जायें, सोनी संबंधित अधिकारियों को समय-समय पर आकस्मिक निरीक्षण करने को कहा।

मण्डलायुक्त ने नगर पंचायत एवं खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि अपने संसाधन से कैटिल कैचिंग क्रय कर लें। उन्होंने कहा कि आवारा गोवंश को पकड़ने के लिये यदि कैटिल कैचिंग की आवश्यकता है तो नगर निगम व नगर पंचायतों से कैटिल कैचिंग,  डीजल व स्टाफ उपलब्ध कराते हुये प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने निर्देश दिये कि जिस क्षेत्र में निमार्णाधीन गौशालायें है उन्हें कार्यदायी संस्थायें शीघ्र पूरा कराये। मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि गौशालाओं में पराली का भूषा न खिलाया जाये। साथ ही  भूसे को आरक्षित 15 दिन के लिये रखें, जिसका समय-समय पर सत्यापन कराया जाये। सत्यापन के दौरान रिकार्ड उपलब्ध कराया जायें।

इसके अतिरिक्त विभाग द्वारा संचालित टीकाकरण, कृत्रिम गभार्धान, चिकित्सा, बन्ध्याकरण, किसान क्रेडिट कार्ड (पशुपालन घटक), मिशन 10 लाख सेक्स्ड सीमेन द्वारा कृत्रिम गभार्धान, एनएलएम योजना में प्राप्त आवेदन व स्वीकृत आवेदन, एएचआईडीएफ योजना, पोल्ट्री पालिसी, नन्दिनी कृषक समृद्धि योजना, कुक्कुट विकास नीति सहित योजनाओं की विस्तृत रूप से समीक्षा की।

मण्डलायुक्त ने कुक्कुट विकास योजना को बढ़ावा देने के भी निर्देश दिये। बैठक में मण्डलायुक्त को मुख्य विकास अधिकारियों द्वारा बताया गया कि निरीक्षण किया जा रहा है जो भी हाईवे पर छुट्टा गोवंश मिलते है उनको पकड़कर गौशालाओं में  रखा जाता है। इस अवसर पर मण्डल के मुख्य विकास अधिकारियों से वर्चुअल बैठक की। बैठक में उप निदेशक पशुपालन, मण्डल के मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, नगर निगम, जनपद लखनऊ के खण्ड विकास अधिकारी सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Tags: lucknow

About The Author

Latest News

डीएम की अध्यक्षता व निर्देशन में जनपद की तीनों तहसीलों में सम्पूर्ण समाधान दिवस सम्पन्न डीएम की अध्यक्षता व निर्देशन में जनपद की तीनों तहसीलों में सम्पूर्ण समाधान दिवस सम्पन्न
गाजियाबाद। ( तरूणमित्र ) 22 जुलाई। डीएम इन्द्र विक्रम सिंह के निर्देशन में जनपद की तीनों तहसील में प्रत्येक माह...
एटम बम से खतरनाक साइबर अटैक : प्रकाश सिंह
द हंस फाउंडेशन ने नगर पालिका बालिका इंटर कॉलेज चन्द्रपुरी में हंस वेलनेस सेंटर का उद्घाटन किया
कांवड मार्ग पर दुकानों पर नाम लिखने के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक : इंद्रजीत सिंह टीटू
जाम से निजात हेतु एसडीएम ने सीओ को भेजा पत्र
निस्तारण में लापरवाही क्षम्य नही : अपर जिलाधिकारी
बकाया मूल्यांकन पारिश्रमिक का भुगतान एक सप्ताह में कर दिया जाएगा-डीआईओएस