डीएम की अध्यक्षता मे ग्राम्य विकास के कार्यो/योजनाओं की समीक्षा बैठक हुई आयोजित।

डीएम की अध्यक्षता मे ग्राम्य विकास के कार्यो/योजनाओं की समीक्षा बैठक हुई आयोजित।

संत कबीर नगर, 12 फरवरी 2024(सू0वि0)। जिलाधिकारी महेन्द्र सिंह तंवर की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में पंचायती राज विभाग एवं ग्राम्य विकास विभाग द्वारा संचालित योजनाओं/निर्माण कार्यो की प्रगति की समीक्षा की गयी। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी जय प्रकाश एवं मुख्य विकास अधिकारी संत कुमार उपस्थित रहे। 
    पंचायती राज विभाग की समीक्षा के दौरान विगत बैठक में दिये गये निर्देशों की अनुपालन आख्या के साथ-साथ जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद के विभिन्न ग्राम पंचायतों में 727 सामुदायिक शौचालयों के सापेक्ष 705 का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। जिलाधिकारी द्वारा ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालयों की देख-रेख, साफ-सफाई एवं क्रियाशील रखने का निर्देश दिया गया तथा उन्होंने कहा कि सम्बंधित ए0डी0ओ0 पंचायत प्रतिदिन सामुदायिक शौचालयों के खुले रहने की स्थिति को व्हाट्सएप गु्रप पर फोटो भेजकर अवगत कराना सुनिश्चित करेगें। बैठक में जनपद के सभी विकास खण्डों में स्थित विद्यालयों में कायाकल्प योजना के तहत कराये जा रहें कार्यो, दिव्यांग शौचालयों, बाउन्ड्रीवॉल, टाईल्स आदि लगाये जाने की प्रगति की समीक्षा की गयी। जिलाधिकारी ने सम्बंधित खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिया कि कार्य में गतिशीलता लाते हुए शत प्रतिशत दिव्यांग शौचालयों को पूर्ण करा लिया जाए। बैठक में ग्राम पंचायतों में पंचायत भवनों में पंचायत सचिव की उपस्थित एवं कार्यो का सुचारू संचालन की समीक्षा की गयी। 
    समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने ‘‘ग्राम प्रधानों के विरूद्ध शपथ पत्र पर प्राप्त शिकायतों’’ की जांच हेतु नियुक्त जनपद स्तरीय जांच अधिकारियों द्वारा 52 प्रकरणों में अभी तक जांच आख्या उपलब्ध न कराये जाने पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए आगामी 01 सप्ताह के अन्दर प्रकरण की भलिभॉति एवं स्थलीय जांच कर रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिये, अन्यथा की स्थिति में जिलाधिकारी द्वारा सम्बंधित जांच अधिकारी का वेतन जांच आख्या उपलब्ध कराने तक रोकने हेतु निर्देशित किया गया।
    समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने जनपद के 04 ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन हेतु एवं 03 ग्राम पंचायतों सामुदायिक शौचालय हेतु जमीन न मिलने की सूचना का संज्ञान लेते हुए इस संबंध में अलग से सम्बंधित उप जिलाधिकारी एवं खण्ड विकास अधिकारी के साथ बैठक कर जमीन चिहिन्त करने हेतु निर्देशित किया गया। जिलाधिकारी द्वारा पंचायती राज विभाग के कार्यो/योजनाओं की समीक्षा के दौरान मा0 मुख्यमंत्री के डैशबोर्ड पर पंचायतीराज विभाग की योजनाओं के सापेक्ष जनपद के प्रगति की स्थिति, 05वॉ राज्य वित्त आयोग एवं 15वां केन्द्रीय वित्त आयोग द्वारा प्राप्त धनराशि के सापेक्ष विभिन्न विकास खण्डों द्वारा कराये गये कार्यो एवं धनराशि के व्यय की समीक्षा, केयर टेकर, आईजी0आर0एस0 पोर्टल पर लम्बित प्रकरणों की समीक्षा, आदर्श ग्राम, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण सहित अन्य विकास कार्यो एवं योजनाओं की विस्तृत समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।
    जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायतों में संचालित केन्द्र/राज्य सरकार की योजनाओं की अलग-अलग सूची बनाते हुए माहवार अपडेटेड रिकार्ड प्रत्येक ग्राम सचिवालय पर पंचायत सहायक के पास उपलब्ध रहने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पंचायत सहायक के पास केन्द्र/राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के लाभार्थियों की अलग-अलग आकड़ेवार जानकारी तथा कौनसी योजना से किस व्यक्ति को लाभान्वित किया गया है इसकी विस्तृत जानकारी से सम्बंधित पंजीका ग्राम सचिवाल पर उपलब्ध रहनी चाहिए।
    इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी सुरेश चन्द्र केसरवानी, डी0सी0 एन0आर0एल0एम0 जीशान रिजवी, पीडी संजय कुमार नायक, डीसी मनरेगा प्रभात द्विवेदी, जिला पंचायत राज अधिकारी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अमित कुमार सिंह, सहित खण्ड विकास अधिकारी व सम्बंधित अधिकारी आदि उपस्थित रहे। 

Tags:

About The Author

Latest News