उमेश कुमार यदि शेर है तो शेर या तो पिंजरे में रहता है या वन में: मोहम्मद शहजाद

उमेश कुमार यदि शेर है तो शेर या तो पिंजरे में रहता है या वन में: मोहम्मद शहजाद

रुड़की (देशराज पाल)। लक्सर से बसपा विधायक मोहम्मद शहजाद ने कहा कि जैसा की खानपुर विधायक उमेश कुमार के लोग उसे शेर कहते हैं तो मैं कहता हूं शेर या तो पिंजरे में होता है या वन मे। उन्होंने कहा शेर की ना तो यहां जरूरत है और ना ही विधानसभा में। उन्होंने कहा कि उन्होंने मेरे ऊपर जो अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया है उसका जवाब में नहीं मेरी हरिद्वार की जनता देगी। खानपुर विधायक उमेश कुमार को माफी मांगनी होगी। माफी ना मांगने पर हरिद्वार की जनता उन्हें इसका कड़ा जवाब देगी।
बृहस्पतिवार बसपा से लक्सर विधायक मोहम्मद शहजाद ने बहुजन समाज पार्टी प्रदेश अध्यक्ष की मौजूदगी अपने कार्यालय के नजदीक पार्क में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि उत्तराखंड विधानसभा सदन में खानपुर विधायक उमेश कुमार द्वारा मुझ पर धमकी भरे लहजे और  अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुए गुंडागर्दी दिखाई गई है जबकि विधानसभा सत्र में समान नागरिक संहिता विधेयक पर होने वाली चर्चा जो मुस्लिम समाज के सरोकार से संबंधित थी में भाग नहीं लिया उल्टा मुस्लिम विधायक को डराने धमकाने और अपमानित करने का प्रयास किया गया जिससे मुस्लिम समाज, दलित समाज व जिला हरिद्वार के आमजनों की भावना को भारी आघात लगा है। उन्होंने कहा कि जब उसे किसाने की बात रखनी थी तब कोई बात नहीं रखी और भारतीय जनता पार्टी की सह पर सदन की कार्यवाही बाधित करने का काम कर रहा था। इस घटना से मुस्लिम समाज, दलित समाज व जनपद हरिद्वार के आमजनों में भारी रोष है जो किसी भी कीमत पर उमेश कुमार को माफ नहीं करेंगे। उन्होंने कहा की ग्राम बादशाहपुर शेरपुर कुंडी के अनु0जाति के किसानों का भूमि प्रकरण जो 1952 से चला आ रहा है जिसमें अनु0जाति के सैकड़ो परिवार काबिज कास्त हैं जिसमें धारीवाला, हरसीवाला के भूमाफियाओं जो कि समाज चौहान के है ने 27 जनवरी 2024 को सैकड़ो की संख्या में इकट्ठा होकर इस भूमि में खड़ी फसल को ट्रैक्टरों द्वारा नष्ट कर दिया था और अवैध असलो से फायरिंग कर आतंक पैदा कर दिया था। इस संबंध में थाना पथरी पर मुकदमा दर्ज भी हो रखा है। उन्होंने कहा कि उमेश कुमार द्वारा इन गरीब किसानों की मदद करने के बजाय माफिया के पक्ष में मुख्यमंत्री से मिलकर पत्र द्वारा कार्यवाही चाही गई जिससे साबित होता है कि यह विधायक जो सदन में बसपा के मुस्लिम विधायक का अपमान करता है और सदन के बाहर अनु0जाति के समाज की वर्षों से काबिज कास्त भूमि को खनन माफिया को देना चाहता है। उन्होंने कहा इसका चेहरा जनता के सामने कुछ और होता है और माफिया के सामने कुछ और। उन्होंने कहा उमेश कुमार मुसलमानों के साथ-साथ दलितों व इंसानियत के भी विरोधी है इनको उपरोक्त प्रकरणों पर मुस्लिम समाज, दलित समाज से सार्वजनिक माफी मांगनी चाहिए अन्यथा बहुजन समाज पार्टी जन आंदोलन के लिए मजबूर होगी। उन्होंने कहा कि वह जब तक माफी नहीं मांगेंगे तब तक उनके पुतले फूंके जाएंगे। प्रेस वार्ता अन्य बसपा नेता भी शामिल रहे।

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News