झामुमो एक परिवार की पार्टी, झारखंड के लोगों से सरोकार नहीं: बाबूलाल मरांडी

झामुमो एक परिवार की पार्टी, झारखंड के लोगों से सरोकार नहीं: बाबूलाल मरांडी

रांची। भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह में बुधवार को पाकुड़ के झामुमो नेता देविधन टुडू घर वापसी कर भाजपा में शामिल हुए। देवीधन टुडू पूर्व में दो बार महेशपुर विधानसभा से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ चुके है। भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा में प्रदेश उपाध्यक्ष रहे है। भाजपा पाकुड़ जिला के जिला अध्यक्ष का कमान भी संभाल चुके हैं। वे वर्तमान में झामुमो जिला कमिटी के सदस्य हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने उन्हें माला एवं पार्टी का पटका पहनाकर पार्टी में शामिल करवाया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि लोगो का मोह झारखंड मुक्ति मोर्चा से भंग होता जा रहा है। आदिवासी और झारखंड हित की बात करने वाले झारखंड मुक्ति मोर्चा में सिर्फ एक परिवार का हित होता है, किसी दूसरे आदिवासी व्यक्ति का नही। झामुमो में पिता, मां, भाई,भाभी ही एक पार्टी है। उन्होंने कहा कि आदिवासी का बात बोल बोलकर सत्ता में बैठने वाले झामुमो के नेता बताए कि चार सालों में आदिवासियों के लिए राज्य सरकार ने क्या किया है। झामुमो सरकार में सबसे ज्यादा बलात्कार आदिवासी महिलाओं के साथ हुआ एवं रूपा तिर्की, राबिका पहाड़िया, संध्या टोपनो, रामेश्वर मुर्मू, सुभाष मुंडा की हत्या यह दर्शाता है कि इस सरकार में आदिवासी कितना असुरक्षित है।

देवीधान टुडू ने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा में घुटन सी हो रही थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी से प्रभावित होकर पुनः भाजपा में शामिल हुआ हूं। उन्होंने कहा कि भाजपा में शामिल होकर सुकून से महसूस कर रहा हूं। झामुमो में किसी आदिवासी का भला नहीं हो सकता। वहां दलाल, भ्रस्टाचारी, बिचौलियों का का बोल बाला है। केंद्र में पुनः मोदी सरकार बनानी है एवं प्रदेश में भाजपा सरकार बनानी है मिलन समारोह में झामुमों पाकुड़िया प्रखंड समिति सदस्य लखीराम सोरेन, पाकुड़ मांझी परगना लहान्ति वैशी अध्यक्ष निर्मल टुडू, झामुमो के प्रखंड समिति सदस्य आशीष हांसदा, झामुमों के पाकुड़िया प्रखण्ड सदस्य सनातन देहरी सहित कई लोगो ने झामुमो छोड़कर भाजपा में शामिल हुए।

Tags:

About The Author

Latest News