पूर्व प्रधानाध्यापक द्वारा अतिक्रमण कर लिये जाने का आरोप

पूर्व प्रधानाध्यापक द्वारा अतिक्रमण कर लिये जाने का आरोप

सुपौल:- जिले के पिपरा प्रखंड अंतर्गत ठाढ़ी भवानीपुर पंचायतवासियों ने उर्दू मध्य विद्यालय की जमीन पर पूर्व प्रधानाध्यापक द्वारा अतिक्रमण कर लिये जाने का आरोप लगाया है। इस मामले को लेकर बड़ी संख्या में स्थानीय ग्रामीणों ने जिला पदाधिकारी सुपौल को आवेदन देकर अतिक्रमित जमीन खाली कराने की मांग की है। 
 
   डीएम को दिये ज्ञापन में बताया है कि पिपरा प्रखंड अंतर्गत ठाढ़ी भवानीपुर पंचायत में पूर्व से उर्दू मध्य विद्यालय अवस्थित है। विद्यालय के नाम से सरकारी पुराना खाता 1902 के सर्वे चकबंदी में जमीन बिहार माध्यमिक शिक्षा विभाग के नाम से दर्ज है। लेकिन इस सरकारी विद्यालय की जमीन व मैदान को स्थानीय निवासी ऐजाज खाँ सहित अन्य कई व्यक्तियों ने फर्जी तरीके से खरीद लिया। जिसके बाद आनन-फानन में टाट-फूस का घर बना कर अतिक्रमण कर लिया। आवेदन में बताया गया है कि विद्यालय की अन्य खाली जमीन को भी खरीद लेने की धमकी दिया जा रहा है। 
 
दिए गए आवेदन में बताया गया है कि सरकारी विद्यालय की जमीन जिसे ऐजाज खाँ ने खरीदा है, वह एवं उसकी पत्नी शबनम खानम इसी विद्यालय की प्रधानाध्यापिका रह चुकी हैं। आवेदकों ने आशंका जाहिर करते हुए बताया कि उन्हे ऐसा अंदेशा है कि अपने प्रधानाध्यापक के कार्यकाल में विद्यालय की जमीन संबंधित मूल कागज गायब कर कुछ दिनों बाद सरकारी जमीन क्रय किया है, जो संगीन अपराध की श्रेणी में आता है। 
 
        ग्रामीणों ने बताया कि ऐजाज खां वगैरह सरकारी जमीन विद्यालय की जमीन का केवाला कर अंचलाधिकारी पिपरा को गलत तरीके से जमाबंदी लगान निर्धारण करा लिया है। जबकि जमाबंदी करने अंचल कर्मी को जमीन का सत्यापन करना आवश्यक होता है। ग्रामीणों को जब सरकारी जमीन की क्रय-विक्रय की बात पता चली तो विद्यालय के जमीन का सर्वे चकबंदी को देखा तो ज्ञात हुआ कि विद्यालय खुद मकान में सहन एवं फील्ड के रूप में खाता दर्ज है। लोगों का आरोप है कि इसका मूल कागजात निवर्तमान प्रधानाध्यापक शबनम खानम व निवर्तमान प्रधानाध्यापक ऐजाज खां ने खुद एवं खरीदने वाले सहयोगी के साथ मिल कर चोरी छिपे स्कूल के कागजात को गायब कर दिया और जालसाजी करते हुए सरकारी विद्यालय की जमीन को हड़पने के लिये फर्जी रजिस्ट्री करवा लिया है। ग्रामीणों ने मांग की है कि जिन लोगों से ऐसा कुकृत्य किया, उस पर जांच कर उचित कानूनी कार्रवाई किया जाना चाहिये। साथ ही लोगों ने विद्यालय की जमीन को अतिक्रमण मुक्त करवाने की मांग की है।
 
आवेदन पर ग्राम कचहरी के सरपंच ने अनुशंसा किया है। आवेदन की प्रतिलिपि जिला शिक्षा पदाधिकारी, शिक्षा मंत्री व मुख्यमंत्री को भी प्रेषित किया है। आवेदन देने वालों में वार्ड सदस्य रानंदन यादव, सुभाष यादव, गजेंद्र यादव, रतन कुमार, अनिता देवी, प्रमोद कुमार यादव, नरेश कुमार यादव, नरेश कुमार, संतोष चौधरी, आशीष कुमार, बिरेन यादव, अरविंद यादव, सिकेन यादव, मुकेश कुमार, रंजीत ठाकुर, अजीत कुमार, हरेराम यादव, अशोक यादव, भोली देवी, मंजूला देवी, अरहुलिया देवी, जयकृष्ण, नीतू देवी, सीता देवी, अमोद यादव, सेमफुल देवी, मैनी देवी आदि शामिल हैं।
इस मामले में पूर्व प्रधानाध्यापक एजाज खां ने बताया कि उन्होंने यह जमीन जमींदार से खरीदी है विद्यालय की जमीन अपने चाहरदीवारी के अंदर है। यह आवेदन षडयंत्र के तहत दिया गया है। वहीं जिला शिक्षा पदाधिकारी के मोबाइल पर कॉल करने पर उनसे संपर्क नहीं हो पाया।
 
 
 
 
Tags:

About The Author

Latest News

लोगो से जनसम्पर्क कर घर घर बाँटे मोदी की गारन्टी वाले कलेंडर लोगो से जनसम्पर्क कर घर घर बाँटे मोदी की गारन्टी वाले कलेंडर
लोगो से जनसम्पर्क कर घर घर बाँटे मोदी की गारन्टी वाले कलेंडर फ़िरोज़ाबाद ,भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष व महानगर...
14 अप्रेल को धूमधाम से निकाली जायेगी सम्राट अशोक की शोभायात्रा
प्रधानमंत्री मोदी का दौसा में भव्य रोड शो, लोगों ने बरसाए फूल
तेज रफ्तार यात्री बस ने पिता-पुत्र को रौंदा, दोनों की मौत
उदयपुर से जम्मूतवी के लिए स्पेशल साप्ताहिक ट्रेन 25 से
मुख्यमंत्री शनिवार को भादरा व नोहर में जनसभा करने के बाद फतेहपुर में रोड शो करेंगे
 मतदान दलो का प्रशिक्षण शनिवार से प्रारंभ