शालीमार एलटीटी एक्सप्रेस घटना की एसएजी स्तर की जांच के आदेश, घायल को 50 हजार अनुग्रह राशि

सीएसपीडीसीएल के ड्रिलिंग मशीन के ड्रीलर का हेड लगने से टूटे एसी कोच की खिड़कियां : रेलवे

शालीमार एलटीटी एक्सप्रेस घटना की एसएजी स्तर की जांच के आदेश, घायल को 50 हजार अनुग्रह राशि

रायपुर। रायपुर रेल मंडल में उरकुरा स्टेशन से गाड़ी संख्या 18030 शालीमार एलटीटी एक्सप्रेस घटना की एसएजी स्तर पर जांच के आदेश दिए गए हैं। रेलवे अधिकारियों ने घटना स्थल का दौरा किया। छत्तीसगढ़ स्टेट पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड (सीएसपीडीसीएल) के कांट्रेक्टर द्वारा रेलवे को संज्ञान में लाये बिना ड्रिलिंग मशीन से रेलवे लाइन के नीचे ड्रिलिंग किया जा रहा था, उसी समय ड्रीलर का हेड लगने से ट्रेन के एसी कोच बी-4,बी-5,बी-6 के खिड़कियों के कांच टूटने की घटना घटित हुई। मंडल रेल प्रबंधक संजीव कुमार ने सोमवार को जानकारी देते हुए बताया कि ट्रेन में चलने वाले ओबीएचएस (सफाई कर्मी) स्टाफ नारायण चंद बाग उम्र 30 साल को एवं एक अन्य यात्री (व्यक्ति) देवारी लाल धीवर उम्र 30 साल हाथ में चोट आई। एक रेल यात्री उम्र 12 साल जो अपने परिवार के साथ खड़गपुर से एलटीटी की यात्रा कर रहे थे उन्हें आंख के पास चोट आई इन्हें उपचार के उपरांत परिवार सहित विशाखापट्टनम-एलटीटी एक्सप्रेस से लोकमान्य तिलक टर्मिनस के लिए रेलवे द्वारा टिकट की व्यवस्था कर भेजा गया। स्टेशन पर ट्रेन के पहुंचने के पांच मिनट के अंदर डॉक्टर एवं एंबुलेंस की टीम पहुंच गई एवं यात्रियों को प्राथमिक उपचार दिया गया। घायल यात्रियों को नारायणा अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी हालत बेहतर है।

घटना की जानकारी लगते ही रायपुर रेल मंडल के अपर मंडल रेल प्रबंधक (इंफ्रा) आशीष मिश्रा, अपर मंडल रेल प्रबंधक (परिचालन) आर के साहू, रायपुर स्टेशन पर पहुंचे। 10.20 बजे शालीमार-एलटीटी एक्सप्रेस के रायपुर पहुचते ही स्टेशन पर कार्यरत सभी कर्मचारी वाणिज्य निरीक्षक, वरिष्ठ प्रचार निरीक्षक, रेलवे सुरक्षा बल के जवान तत्परता के साथ यात्रियों की देखभाल में लग गए। घायल यात्रियों को नारायणा अस्पताल में भर्ती कराया गया एवं अन्य सभी यात्रियों की सरंक्षा की पुष्टि के उपरांत 11:40 बजे रायपुर स्टेशन से ट्रेन को आगे के लिए रवाना कर दिया गया। संजीव कुमार ने बताया कि चोटिल यात्रियों से बात की गई उनके परिजनों से बात कर संतुष्टि जाहिर की। रेलवे द्वारा चोटिल यात्रियों के लिए बेहतरीन चिकित्सा एवं खानपान की व्यवस्था उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। मंडल रेल प्रबंधक ने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को चोटिल यात्रियों को उचित एवं त्वरित इलाज सुनिश्चित करने तथा वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक को अनुग्रह राशि दिए जाने को सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया है।

उन्होंने बताया कि सरंक्षा एवं अन्य मंडलीय अधिकारियों ने घटना स्थल का निरीक्षण किया, साथ ही मुख्यालय से अधिकारियों की टीम ने भी घटना स्थल का निरीक्षण किया। दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई हेतु रेलवे सुरक्षा बल द्वारा प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ स्टेट पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड के अधिकारियों को घटनास्थल पर बुलाकर जानकारी ली गई उनके द्वारा यह माना गया कि घटना स्थल पर निर्धारित मानकों को अनदेखा कर ठेकेदार द्वारा कार्य संपन्न किया जा रहा था। घटना की विस्तृत जानकारी पूरी जांच होने के बाद दी जाएगी। घटना के विषय में रेल का खंबा गिरने की खबर भ्रामक है, घटना का कारण भूमिगत ड्रिलिंग सॉफ्ट का जमीन से ऊपर आकर रेल कोच से टकराना पाया गया है जिससे यात्रीगण चोटिल हुए हैं। चोटिल यात्रियों में देवारी लाल धीवर ही पाए गए उनके पिता खमन लाल दीवार को सहायक वाणिज्य प्रबंधक अविनाश कुमार आनंद द्वारा अनुग्रह राशि पचास हजार रुपये सौंपी गई। मंडल रेल प्रबंधक संजीव कुमार ने इस घटना की जांच कराने का आदेश सम्बंधित अधिकारियों को दिये, भविष्य में इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति ना हो यात्रियों की सुरक्षा एवं सुरक्षा सर्वोपरि प्राथमिकता है, इस हेतु सभी को निर्देशि किया। साथ ही मुख्यालय ने सीनियर एडमिनिस्ट्रेटिव ग्रेड के अधिकारियों द्वारा एसएजी स्तर की जांच के आदेश दिए हैं।



Tags:

About The Author

Latest News

सराहनीय पहल : डाॅ बीपी त्यागी बनाएंगे रैबीज मुक्त गाजियाबाद सराहनीय पहल : डाॅ बीपी त्यागी बनाएंगे रैबीज मुक्त गाजियाबाद
गाजियाबाद में बुधवार को दोपहर 3:00 बजे अवकेनिंग इंडिया फाउंडेशन और महाराणा प्रताप वीर शिरोमणि ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस रेबीज...
माहे मोहर्रम पर इमाम हुसैन की प्यासी सिद्दत की याद में शर्बत वितरण किया गया
मुहर्रम पर शहर में निकाला गया ताजिया जुलूस
अकीदत व एहतराम के साथ ऐतिहासिक मुहर्रम सम्पन्न
महिला से चेन छिनतई, जांच में जुटी पुलिस
हेमंत सोरेन ने जेल से बाहर आकर चम्पाई सोरेन का पॉलिटिकल मर्डर किया : हिमंत विस्व सरमा
एटीएम में कार्ड फंसा, 96 हजार रुपये की हुई निकासी