वी.के. सिंह ने सुनीं डीडीपीएस पर 9 दिन से धरने पर बैठे पेरेंट्स की पीड़ा

जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की लाचारी और बेबसी के आगे डीडीपीएस स्कूल पर 9 दिन से धरने पर बैठे अभिभावक खाली हाथ

वी.के. सिंह ने सुनीं डीडीपीएस पर 9 दिन से धरने पर बैठे पेरेंट्स की पीड़ा

( तरूणमित्र ) गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन के साथ पिछले 9 दिन से अनिश्चित कालीन धरने पर बैठे डीडीपीएस संजय नगर के अभिभावक ने अपनी पीड़ा के समाधान के लिए गाजियाबाद के सांसद जनरल वीके सिंह का दरवाजा खटखटाया जीपीए की टीम और अभिभावकों ने पहले तो जनरल साहब को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं दी उसके बाद पिछले 9 दिन से आज तक न्याय नही मिलने की पीड़ा को जनरल साहब को बताया जनरल वी के सिंह ने अभिभावकों की न्याय की मांग को बड़ी सहनशीलता से सुना और अपनी बेटी मृणालिनी सिंह के साथ ऑफिस में भेजा उन्होंने भी अभिभावको की सारी बातें ध्यान पूर्वक सुनीं और आश्वासन दिया कि आज ही मंत्री जी से फोन कॉल करा कर इस समस्या का समाधान कराएंगी, उन्होंने कहा कि यदि इस समस्या का समाधान नहीं निकलेगा तो मैं खुद अभिभावकों के पास आकर धरने पर बैठूंगी। पिछले 9 दिन से जीपीए के साथ धरने पर बैठे अभिभावक अपनी छोटी सी मांग को लेकर जनप्रतिनिधियों , जिला प्रशासन , शिक्षा अधिकारी सहित हर दरवाजा खट खटा रहे हे चाहे वो प्रधानमंत्री कार्यालय, एनसीपीसीआर या फिर सीबीएसई अब देखना यह है कि क्या ये सभी अपनी नैतिक जिम्मेदारी का निर्वहन कर अभिभावकों की इस छोटी सी समस्या का हल निकाल पाते हैं या फिर सत्ता की हनक के आगे नतमस्तक हो कर बेबसी और लाचारी दिखाते रहते हैं इस मौके पर जीपीए के उपाध्यक्ष पवन शर्मा, महिपाल रावत और अभिभावक मौजूद रहे।

Tags:

About The Author

Latest News

सराहनीय पहल : डाॅ बीपी त्यागी बनाएंगे रैबीज मुक्त गाजियाबाद सराहनीय पहल : डाॅ बीपी त्यागी बनाएंगे रैबीज मुक्त गाजियाबाद
गाजियाबाद में बुधवार को दोपहर 3:00 बजे अवकेनिंग इंडिया फाउंडेशन और महाराणा प्रताप वीर शिरोमणि ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस रेबीज...
माहे मोहर्रम पर इमाम हुसैन की प्यासी सिद्दत की याद में शर्बत वितरण किया गया
मुहर्रम पर शहर में निकाला गया ताजिया जुलूस
अकीदत व एहतराम के साथ ऐतिहासिक मुहर्रम सम्पन्न
महिला से चेन छिनतई, जांच में जुटी पुलिस
हेमंत सोरेन ने जेल से बाहर आकर चम्पाई सोरेन का पॉलिटिकल मर्डर किया : हिमंत विस्व सरमा
एटीएम में कार्ड फंसा, 96 हजार रुपये की हुई निकासी